प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 अक्‍टूबर को पटना विश्‍वविद्यालय के शताब्‍दी समारोह में शामिल होने पटना आ रहे हैं। लेकिन, इसमें पटना के भाजपा सांसद, बॉलीवुड एक्‍टर तथा पटना विवि पूर्ववर्ती छात्र शत्रुघ्‍न सिन्‍हा को निमंत्रण नहीं मिला है। ऐसा हम नहीं कह रहे, यह आरोप खुद शत्रुध्‍न सिन्‍हा ने लगाया है। उनके अनुसार शिक्षा के ऐसे पावन कार्यक्रम में राजनीति ठीक नहीं है।

विदित हो कि पटना विश्‍वविद्यालय के सौ साल पूरे होने पर शताब्‍दी समारोह धूमधाम से मनाया जा रहा है। कार्यक्रम में शिरकत करने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 अक्‍टूबर को पूर्वाह्न 11 बजे विवि पहुंच रहे हैं। इसमें शामिल होने के लिए पटना विवि के छात्र रहे प्रमुख लोगों तथा स्‍थानीय मंत्रियों, सांसदों व विधायकों सहित विवि से जुड़े रहे तमाम चर्चित लोगों को बुलाया गया है। विवि ने शताब्‍दी वर्ष के अवसर पर विवि से जुड़े रहे सौ प्रमुख लोगों की सूची भी प्रकाशित की है।

शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने बताया कि वे पटना के प्रतिष्ठित साइंस कॉलेज के छात्र रहे हैं। पटना के सांसद हैं। कुछ दिनों पहले पटना विवि के कुलपति शताब्‍दी समारोह को लेकर उनसे मार्गदर्शन मांगने भी गए थे। विवि ने अपने सौ प्रमुख लोगों की सूची में भी उन्‍हें जगह दी है। लेकिन, शताब्‍दी समारोह के लिए निमंत्रण ही नहीं दिया है।

शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने कहा कि कार्यक्रम में प्रधानमंत्री आ रहे हैं, यह गर्व की बात है। बिहार की तरह पटना विवि भी उनकी कमजोरियों में शुमार है। शत्रुघ्‍न बोले, ”जिस वक्‍त कुलपति मिले थे, मैंने कहा था कि वे मेरे लिए काम बजाए। जो संभव होगा, जरूर करूंगा। कार्यक्रम में भी शिरकत करूंगा।” लेकिन, अभी तक बुलावा नहीं नहीं आया।

शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने कहा कि विवि के कुलपति उनसे भाजपा नेता श्‍यावंत सिंह के माध्‍यम से मिले थे। पटना विवि के सौ नामचीन लोगों की सूची में उनको भी स्‍थान दिया गय है। सूची में लालू प्रसाद भी हैं। लेकिन, उन दोनों को भी अभी तक निमंत्रण नहीं दिया गया है।

शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने स्‍पष्‍ट आरोप लगाते हुए नसीहत दी कि विवि व कॉलेज तथा शताब्‍दी समारोह जैसे मामलों में राजनीति ठीक नहीं है। कहा, ”हम जैसे लोगों को साथ लेकर चलेंगे तो और नाम ही होगा।”

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *