पीएम नरेंद्र मोदी यूपी के मेरठ से चुनावी अभियान शुरू किया है, बीते दो लोकसभा चुनाव में पार्टी ने यहीं से अपने अभियान की शुरूआत की थी।

पीएम नरेंद्र मोदी ने रविवार को यूपी के मेरठ चुनावी शंखनाद किया है. इस दौरान पीएम मोदी विपक्ष पर जमकर बरसे. इसके साथ अपने दस सालों के कार्यकाल के दौरान किए विकास और प्रगति पर बात कही. पीएम की मेरठ रैली किस कारण से बहुत अहम मानी जारी है. इसकी वजह है कि इस रैली में एनडीए के घटक दल और अन्य पार्टियों के दिग्गज नेताओं के संग आरएलडी के नेता जयंत चौधरी भी यहां उपस्थित थे. आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले यूपी में भाजपा-आरएलडी का गठबंधन हुआ. यह पहली बार है, जब पीएम मोदी और जयंत चौधरी एक साथ मंच पर दिखाई दिए।

इससे पहले भी 2014 और 2019 में भी पीएम मोदी ने मेरठ से चुनावी प्रचार का आगाज किया था. पीएम मोदी ने अपने भाषण में इसका उल्लेख करते हुए वजह भी बताई. उन्होंने कहा कि मेरठ क्रांतिकारियों की धरती रही है. यह वीरों की भूमि है. उन्होंने कहा, मोदी पर कितने हमले विपक्ष कर लें, लेकिन वे भ्रष्टाचार के विरुद्ध रुकने वाले नहीं है. आइए जानने की कोशिश करते हैं क्यों मेरठ से पीएम मोदी ने चुनावी आगाज किया है।

जाटों-गुर्जरों की बड़ी आबादी

मेरठ राजनीतिक रूप से अहम है. यह एक ऐसा निर्वाचन क्षेत्र है, जहां पर जाटों और गुर्जरों की बड़ी आबादी है. भाजपा इन्हें एकजुट करने का प्रयास कर रही है. ये संदेश वह पूरे प्रदेश में भेजना चाहती है. इस दौरान पीएम मोदी ने चौधरी चरण सिंह का जिक्र किया. हाल में केंद्र सरकार ने पूर्व पीएम और जयंत चौधरी के दादा चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न पुरस्कार देने का ऐलान किया. इसके बाद रालोद भाजपा और राजग से जुड़ गया।

अभिनेता अरुण गोविल को चुनावी मैदान में

2019 के लोकसभा चुनाव में भी पीएम मोदी ने मेरठ से चुनावी सभा को आरंभ किया था. उस समय भाजपा के उम्मीदवार राजेंद्र अग्रवाल ने सपा समर्थित बसपा उम्मीदवार हाजी याकूब कुरेशी को मामूली अंतर से हराया. करीब 5,000 से भी कम वोटों के अंतर से हराया. इस बार यहां से भाजपा ने फिल्म अभिनेता अरुण गोविल को चुनावी मैदान में उतारा है. उन्होंने लोकप्रिय टीवी धारावाहिक रामायण में राम का किरदार निभाया था. वहीं हाल में राममंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा भी कराई. मेरठ से अरुण गोविल के उतरने से भाजपा बड़ा संदेश देना चाहती है. उसने चुनावी आगाज भगवान राम से शुरू किया।

मेरठ से पश्चिम यूपी को दिया संदेश 

पीएम मोदी ने अपने भाषण में पूरे देश को भ्रष्टचार के खिलाफ बड़ी लड़ाई का संदेश दिया. उन्होंने यूपी की 80 सीटों को साधने की कोशिश की है. खासकर वेस्ट यूपी की सीटों पर इसका असर होगा. अरुण गोविल एक चर्चित चेहरा हैं. उनके मेरठ से खड़े होने से आम जनता में एक खास संदेश जाएगा. वेस्ट यूपी के लिए गृह मंत्री अमित शाह, पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा और सीएम योगी आदित्यनाथ समेत कई दिग्गज नेताओं ने रैलियों की योजना तैयार की है. यहां पर पहले तीन चरणों में वोटिंग होगी।