लोकसभा चुनाव का बिगुल बजते ही सियासी दलों के बेटिकट हो चुके नेताओं के बीच खलबली मच गयी है। अब वे नए ठौर की तलाश में दूसरी पार्टियों को ज्वाइन कर रहे हैं। इसी कड़ी में मुजफ्फरपुर के सांसद अजय निषाद ने भी बीजेपी को बाय-बाय बोलकर कांग्रेस का हाथ थाम लिया है और बीजेपी को बड़ा झटका दिया है।

अब से थोड़ी देर पहले दिल्ली में अजय निषाद ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर कर ली है। दिल्ली में कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई। इस दौरान बिहार कांग्रेस अध्यक्ष अखिलेश सिंह भी मौजूद रहे। इस दौरान उन्होंने कहा कि अगर आलाकमान का आदेश हुआ तो जनता की अदालत में जाऊंगा। गौरतलब है कि इस बार टिकट कटने से नाराज अजय निषाद ने बीजेपी से थोड़ी देर पहले ही इस्तीफा दिया था। उन्होंने सोशल मीडिया एक्स पर लिखा है कि भाजपा द्वारा छल किये जाने से छुब्ध होकर मैं पार्टी के सभी पद के साथ प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफ़ा देता हूं। ”

चर्चा है कि वे मुजफ्फरपुर से कांग्रेस के प्रत्याशी होंगे। अभी विधायक बिजेंद्र चौधरी वहां से प्रबल दावेदार हैं। उनके अलावा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह के पुत्र आकाश सिंह भी पश्चिम चंपारण या मुजफ्फरपुर के लिए आस लगाए हुए हैं। फिलहाल अजय निषाद के कांग्रेस में शामिल होने के बाद बीजेपी का बड़ा झटका लगा है।

पाला बदलने का सिलसिला जारी

अजय निषाद के कांग्रेस में आते ही पाला बदल का ये बड़ा उदाहरण पेश हुआ है। भाजपा से बेटिकट हुए सासाराम के सांसद छेदी पासवान भी कांग्रेस के संपर्क में बताए जा रहे हैं। इधर, अपनी पार्टी का कांग्रेस में विलय करने वाले पप्पू यादव भी 4 अप्रैल को नामांकन कर सकते हैं।