गोराडीह प्रखंड के मोहनपुर पंचायत में गोशाला की जमीन पर हवाई अड्डा बनने की प्रक्रिया तेज हो गयी है। बुधवार को डीएम नवल किशोर चौधरी ने मोहनपुर मौजा और सरकार अमानत मौजा में स्थित गोशाला की जमीन का निरीक्षण किया।

इस दौरान डीएम ने सीओ, राजस्व कर्मचारी और अंचल अमीन को कैंप लगाकर काम करने और जल्द से रिपोर्ट तैयार कर विभाग को भेजने के निर्देश दिये। डीएम यहां करीब 10 मिनट तक रहे। उन्होंने जमीन की प्रकृति से लेकर दखल-कब्जे की पूरी जानकारी तैयार करने को कहा। डीएम का स्पष्ट कहना रहा कि विवाद रहित जमीन की रिपोर्ट ही सिविल विमानन निदेशालय को भेजी जानी है। इसलिए संबंधित पदाधिकारी जमीन का चयन करते वक्त इन सावधानियों का ख्याल रखेंगे।

गौरतलब है कि डीएम ने जमीन के चयन के लिए अपर समाहर्ता की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई है। यह कमेटी सभी बिंदुओं पर जांच कर रिपोर्ट देगी। निदेशालय ने एक पखवाड़ा पहले भी गोराडीह में गोशाला की जमीन को दो साल पहले एसडीओ की रिपोर्ट का अध्ययन करने को कहा था। गोशाला के पास मात्र 11 एकड़ का दखल होने की बात थी। यह रिपोर्ट सांसद अजय मंडल ने निदेशालय को उपलब्ध कराया था। गौर हो कि पिछले माह सिविल विमानन निदेशालय ने भागलपुर में हवाई अड्डा के लिए 475 एकड़ जमीन की खोज करने का निर्देश दिया था। निरीक्षण के बाद डीएम ने बीडीओ प्रभात केसरी को निर्देश दिये। सीओ तान्या कुमारी को मोटेशन व परिमार्जन मामलों का निपटाने का निर्देश दिये।