माउथ कैंसर एक गंभीर रोग है जो मुख के किसी भी हिस्से में विकसित हो सकता है। इसके लक्षणों में दर्द, घाव, या घाँव का बनना शामिल हो सकता है। सही समय पर चिकित्सा से इसका इलाज संभावनाएं बढ़ा सकता है। नियमित डेंटल चेकअप और स्वस्थ जीवनशैली इस बीमारी की पहचान में मदद कर सकती हैं।

गैर संचारी रोग विभाग भागलपुर द्वारा गुरुवार पुलिस केंद्र में आयोजित कैंसर स्क्रीनिंग सह जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। इस मौके पर होमी भाभा कैंसर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर मुजफ्फरपुर के भागलपुर यूनिट द्वारा 30 साल से अधिक उम्र के 55 महिला एवं पुरुष पुलिसकर्मियों के कैंसर की जांच की गई।

इनमें से छह पुलिसकर्मियों में जहां माउथ कैंसर के शुरुआती लक्षण मिले, जिन्हें आगे की जांच कराने की सलाह दी गई। वहीं एक पुलिसकर्मी में माउथ कैंसर के मामूली लक्षण मिले, जिन्हें सलाह दी गई कि अगर वे तत्काल ही तंबाकू का सेवन बंद कर देते हैं तो ये स्वत ही ठीक हो जाएगा।

 

टीम की डीटीओ डॉ. श्रुति सागर, डॉ. आस्था सिंह व डॉ. सैय्यद अन्वी एजाज ने पुलिसकर्मियों के कैंसर की जांच की। जिला गैर संचारी रोग पदाधिकारी डॉ. पंकज कुमार मनस्वी ने बताया कि कार्यक्रम का उद्देश्य ब्रेस्ट, सर्विक्स व माउथ कैंसर की जांच करते हुए तंबाकू के दुष्परिणामों एवं कोटपा-2003 को लेकर जागरूक करना था। मौके पर निशांत अहमद, संगीता, काजल व सन्नी आदि मौजूद रहे।