पुलिस को मुस्तैदी व सरकार की शराब को लेकर जीरो टॉलरेंस नीति के बाद भी शराब की तस्करी जारी है। तस्कर शराब तस्करी के लिए तरह-तरह के तरीके अपना रहे हैं। गुरुवार की सुबह ताड़र पेट्रोल पंप के पास एक मिनी ट्रक दुर्घटनाग्रस्त न होती तो इसका पता भी नही चलता।

संहौला से घोंघा की ओर तेज गति से जा रहे मिनी ट्रक ने पंप की ओर से तेल लेकर निकल रहे ईट लदे ट्रैक्टर को ठोकर मार दिया। ठोकर लगने के बाद मिनी ट्रक में रखी शराब की बोतलें फूटने से शराब नीचे गिरने लगा। इसे देखकर वाहन चालक फरार हो गया।

जानकारी मिलने पर शराब लूटने टूट पड़े लोग आसपास के लोगों को जब शराब की गंध लगी तो सभी ट्रक पर टूट पड़े। लोगों ने शराब की बोतले लूटने की होड़ मच गयी। महिलाएं भी पीछे नहीं रहीं। जिसको जो हाथ लगा वे बोतल लेते गये। ट्रक पर अंग्रेजी शराब को पेप्सी के बोतल में रखा गया था और उसपर कोयला भी लदा था। ताकि किसी को भनक तक नहीं लगे। सूचना पर घोघा थाने की पुलिस और समझाने पर जब लोग नहीं माने तो पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। सन्हौला थानाध्यक्ष के घटना स्थल पर पहुंचने पर स्थिति सामान्य हुई। सन्हौला थानाध्यक्ष चंदन कुमार ने बताया है कि मिनी ट्रक में अंग्रेजी शराब को कोयले से ढंक दिया गया है। वाहन को थाने ले जाकर शराब उतारने के बाद पता चलेगा कि कौन की शराब कितनी मात्रा में है। वहीं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी कहलगांव शिवानंद सिंह ने बताया कि अलग-अलग ब्रांड की कुल 1220 लीटर विदेशी शराब जब्त की गयी है। सभी 625 एमएल के बोतल है। फरार ट्रक चालक को पकड़ने का प्रयास किया गया। प्राथमिकी दर्ज कर वाहन के मालिक का पता लगाने की कार्रवाई की जा रही है।