भागलपुर रेलवे स्टेशन के छह प्लेटफार्मों का विस्तार होगा। यात्रियों की सहूलियत के लिए कनेक्टिविटी और शेंटिंग यार्ड का भी विस्तार होगा। ट्रेनों की संख्या भी बढ़ेगी। शेंटिंग यार्ड के विस्तारित होने से प्लेटफार्म संख्या पांच-छह पर नाथनगर की ओर से आने वाली ट्रेनों के सिग्नल के पास रुकने की समस्या का समाधान हो जाएगा। राजधानी एक्सप्रेस सहित 48 ट्रेनों का प्रतिदिन परिचालन होता है।

मुख्य तथ्य

  • 24 कोच के बनेंगे स्टेशन के सभी छह प्लेटफार्म
  • शेंटिंग यार्ड भी पहले होगा बड़ा, बढ़ेगी ट्रेनों की संख्या
  • 47 ट्रेनों का परिचालन हो रहा है इस रेलखंड पर

भागलपुर रेलवे स्टेशन के छह प्लेटफार्मों का विस्तार होगा। इन्हें 24 कोच वाली ट्रेनों के लायक बनाया जाएगा। यात्रियों की सहूलियत के लिए कनेक्टिविटी और शेंटिंग यार्ड का भी विस्तार होगा। ट्रेनों की संख्या भी बढ़ेगी। शेंटिंग यार्ड के विस्तारित होने से प्लेटफार्म संख्या पांच-छह पर नाथनगर की ओर से आने वाली ट्रेनों के सिग्नल के पास रुकने की समस्या का समाधान हो जाएगा।

स्टेशन को वर्ल्ड क्लास स्टेशन के रूप में विकसित करने संबंधी डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) जल्द ही मंत्रालय भेजा जाएगा। मंजूरी मिलते ही काम शुरू हो जाएगा।

वर्तमान भागलपुर से विक्रमशिला एक्सप्रेस, अंग एक्सप्रेस, लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस, जनसेवा एक्सप्रेस, भागलपुर-दानापुर इंटरसिटी, वनांचल सहित 13 एक्सप्रेस और 10 पैसेंजर ट्रेनें खुलती हैं।

छह नंबर तक प्लेटफार्मों का विस्तारीकरण

राजधानी एक्सप्रेस सहित 48 ट्रेनों का प्रतिदिन परिचालन होता है। ट्रेनों के परिचालन को ध्यान में रखकर एक से छह नंबर तक प्लेटफार्मों का विस्तारीकरण होगा। अतिरिक्त प्लेटफार्म का भी निर्माण होगा।

जमालपुर-भागलपुर- साहिबगंज रेलखंड में ट्रैकों की स्पीड 110 किलोमीटर प्रतिघंटे से बढ़ाकर 130 और भागलपुर-दुमका रेलखंड की स्पीड 110 किलोमीटर प्रतिघंटे की जाएगी। भागलपुर में पार्सल साइडिंग के पास से या फिर प्लेटफार्म संख्या छह के पास से मंदारहिल सेक्शन में अतिरिक्त प्लेटफार्म बनेगा।