सुशील मोदी का पार्थिव शरीर पटना में भाजपा कार्यालय ले जाया गया, अंतिम दर्शन को उमड़े लोग

BiharPolitics

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी (Sushil Modi Death) के निधन की सूचना मिलते ही देश भर में सोमवार की देर शाम शोक की लहर दौड़ गई। पक्ष और विपक्ष के लगभग सभी नेताओं ने शोक प्रकट किया। उन्होंने लिखा उनका निधन बिहार भाजपा के लिए अपूरणीय क्षति है।

सुशील मोदी का पार्थिव शरीर राजेंद्र नगर स्थित आवास पर पहुंच गया है। उनके अंतिम दर्शन के लिए भीड़ उमड़ने लगी है। उनके आवास पर भाजपा के कई प्रमुख नेता मौजूद हैं।

इस बीच, RSS प्रमुख ने भी शोक जताया है। उन्होंने लिखा कि बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री व सांसद श्री सुशील कुमार मोदी के अचानक निधन से अतीव दुःख हुआ। इस समय हम सब की भावना उनके परिवार तथा असंख्य मित्र-प्रशंसकों के साथ है।

सुशील मोदी के आवास पर उन्हें श्रद्धांजलि दी जा रही है। इस मौके के कई वीडियो भी सामने आए हैं। सुशील मोदी में उनके आवास से अब पटना स्थित भारतीय जनता पार्टी के कार्यालय विजय निकेतन ले जाया गया है।

उन्होंने लिखा कि संघ के निष्ठावान स्वयंसेवक एवं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री रहे श्री सुशील जी सारे देश विशेषतः बिहार की चिंता करते थे। उनके निधन से एक जागृत सामाजिक कार्यकर्ता व कुशल राजनीतिक नेता को हमने खोया है।

वे सार्वजनिक जीवन में सैद्धांतिक निष्ठा व पारदर्शिता के आदर्श उदाहरण थे। उनके परिवार को अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए हम ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि उन्हें दुःख सहन करने की शक्ति दे तथा दिवंगत आत्मा को सद्गति प्रदान करे।

बता दें कि सुशील मोदी (Sushil Modi Last Rites) का अंतिम संस्कार पटना में होगा। दिल्ली से उनके पार्थिव शरीर को विशेष विमान से पटना लाया गया है। सुशील मोदी के पार्थिव शरीर को एयरपोर्ट से उनके आवास ले जाया जाएगा, जहां लोग श्रद्धा सुमन अर्पित करेंगे।

 

पटना पहुंचा सुशील मोदी का पार्थिव शरीर

ताजा जानकारी के अनुसार, सुशील मोदी का पार्थिव शरीर पटना एयरपोर्ट पर पहुंच गया है। बता दें कि सुशील मोदी के पार्थिव देह को दोपहर 12 बजे पटना एयरपोर्ट पर लाया जाना था।

परंतु इसमें करीब डेढ़ घंटे की देरी हुई है। ऐसे में अंतिम संस्कार के लिए पूर्व में तय किए गए समय से अधिक वक्त लग सकता है। प्रदेश भाजपा ने आज के अपने सभी कार्यक्रमों को रद्द कर दिया है।

सुशील मोदी की अंतिम यात्रा (Sushil Modi Last Rites) राजेंद्र नगर आवास से संघ कार्यालय विजय निकेतन दिनकर चौराहा- नाला रोड, भट्टाचार्य मोड़, एक्जीबिशन रोड चौराहा, डाकबंगला चौराहा, कोतवाली थाना, इस्कॉन मंदिर, बुद्ध मार्ग पुल होते हुए सप्तमूर्ति पहुंचेगी, बिहार विधान सभा में उन्हें श्रद्धांजलि दी जाएगी। इसके बाद वहां से भाजपा प्रदेश कार्यालय में उनको श्रद्धांजलि दी जाएगी।

भाजपा प्रदेश कार्यालय से आयकर गोलंबर, पुनाईचक, विश्वेश्वरैया भवन से अटल पथ होते हुए दीघा घाट सुशील मोदी की अंतिम यात्रा पहुंचेगी। यहां पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार होगा।

एयरपोर्ट पर ये नेता मौजूद

बता दें कि एयरपोर्ट पर सुशील मोदी का पार्थिव शरीर लाए जाने को लेकर भारतीय जनता पार्टी के कई नेता हवाई अड्डे पर पहुंचे हुए हैं।

इनमें उप मुख्यमंत्री सम्राट चौधरी, उप मुख्यमंत्री विजय सिन्हा, पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन, पद्मश्री विमल जैन के अलावा कई भाजपा विधायक और प्रदेश पदाधिकारी, कार्यकर्ता भी मौजूद हैं।

इधर, राज्य सरकार के स्वास्थ्य एवं कृषि मंत्री मंगल पांडेय के अलावा मंत्री नीतीश मिश्रा, नीरज बबलू कई नेता राजेंद्र नगर स्थित सुशील मोदी के आवास पर पहुंच गए हैं।

अंतिम यात्रा का यह था कार्यक्रम

अपराह्न 12.00 बजे : पटना एयरपोर्ट (स्टेट हैंगर )

अपराह्न 01.00 बजे : राजेन्द्रनगर आवास

अपराह्न 03.00 बजे : विजय निकेतन संघ कार्यालय

अपराह्न 04.00 बजे : विधान सभा एवं विधान परिषद

अपराह्न 04.30 बजे : भाजपा प्रदेश कार्यालय

शाम 06.00 बजे : दीघा घाट (अंतिम संस्कार)

 

सुशील मोदी नहीं कर सकेंगे देहदान

इस बीच, यह भी खबर सामने आ रही है कि दधिचि देहदान समिति और मां वैष्णो देवी सेवा समिति के संरक्षक रहे सुशील कुमार मोदी अपना देहदान नहीं कर सकेंगे। कैंसर के कारण मेडिकल छात्रों की पढ़ाई या मरीजों के लिए उनके अंग नहीं लिए जा सकेंगे।

बताते चलें कि प्रदेश में अंगदान व देहदान को बढ़ावा देने के लिए सुशील मोदी ने अथक प्रयास किये थे, उप मुख्यमंत्री के रूप में उनके शपथ लेने के बाद उनकी सक्रियता से नेत्रदान देहदान बढ़ा था। इस क्रम में उन्होंने अपने शरीर को भी दान करने का संकल्प लिया था।

क्या बोले रविशंकर प्रसाद

सुशील कुमार मोदी के निधन पर पटना साहिब लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार रविशंकर प्रसाद ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए बहुत दुखद है। वह मेरे लिए बड़े भाई की तरह थे।

उन्होंने कहा कि वह लालू प्रसाद यादव के भ्रष्टाचार के खिलाफ खड़े हुए थे। उन्होंने बिहार भाजपा को आगे बढ़ाने में बड़ी भूमिका निभाई। मैं उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। यह एक अपूरणीय क्षति है।’


Discover more from The Voice Of Bihar

Subscribe to get the latest posts to your email.

Kumar Aditya

Anything which intefares with my social life is no. More than ten years experience in web news blogging.

Adblock Detected!

Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by whitelisting our website.