राजधानी के खगौल थाना क्षेत्र के नैनचक में भानु पासवान की गुरुवार की देर रात अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. वहीं पुलिस ने 24 घंटे के अंदर तीन हत्या के आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार आरोपित नैनचक के रहनेवाले आशंका पासवान, अभिषेक कुमार और विनोद कुमार है।

पटना प्रॉपर्टी डीलर हत्याकांड मामले में तीन गिरफ्तार: वहीं अन्य इस हत्या के आरोपित अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है. गुरुवार की देर रात खगौल थाना क्षेत्र के नयनचक काली मंदिर के नजदीक बेखौफ अपराधियों ने प्रॉपर्टी डीलर को गोलियों को भून डाला था. घटना के बाद पूरे इलाके में दहशत का माहौल कायम हो गया था।

घर से कुछ दूर पर मारी गई थी गोली: मृतक भानू पासवान प्रॉपर्टी डीलर का काम किया करता था. जानकारी के मुताबिक गुरुवार की देर रात भानू पासवान अपनी कार से घर लौट रहा था. वह अपने घर से कुछ दूरी पर गाड़ी से उतरकर पैदल ही घर पहुंचने वाले थे. इसी क्रम में नैनचक काली मंदिर के नजदीक पूर्व से घात लगाए अपराधियों ने उन पर ताबड़तोड़ पांच गोलियां चला दी।

बदले की भावना से की गई हत्या: गोली भानू पासवान के सिर में और शरीर के अन्य हिस्सों में लगी. गोली लगते ही भानू पासवान वहीं गिर पड़े. उनके शरीर में लगभग 5 गोलियां लगी थी. वही घटना अंजाम देने के बाद अपराधी फरार होने में भी सफल रहे. मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया कि कुछ माह पूर्व आरोपियों के परिवार से जुड़े एक युवक की सड़क हादसे में मौत हो गई थी. उसी घटना का बदला लेने के लिए भानू की हत्या की गई है।

अन्य की तलाश में जुटी पुलिस: गोलीबारी की आवाज सुनते ही आसपास के लोग मौके पर पहुंच गए. स्थानीय लोगों ने भानू पासवान को इलाज के लिए पटना के एक निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. वहीं इस घटना में खगौल थाना अध्यक्ष सुनील कुमार ने बताया है कि मृतक भानु का छोटा भाई छोटू पासवान ने थाना को अपने आवेदन में 15 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करवाते हुए कहा है कि कुछ दिन पूर्व हुई विवादित घटना के बाद से हमारे खिलाफ साजिश रची जा रही है।

“भानू के भाई का कहना है कि हम लोग के परिवार के खिलाफ षड्यंत्र रचा जा रहा था. फिलहाल तीनों हत्या के आरोपित को गिरफ्तार कर पुलिस न्यायिक हिरासत में भेजने की तैयारी में जुट गई है.”- सुनील कुमार,खगौल थाना अध्यक्ष