बिहार में एक बार फिर से राजनीतिक उथल पूथल देखने को मिला है. आरजेडी से गठबंधन तोड़ने के बाद नीतीश कुमार ने बीजेपी के साथ हाथ मिलाया है. उन्होंने आज सुबह ही मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. वहीं, आज शाम तक वे दोबारा मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं. महागठबंधन से अलग होने के नीतीश कुमार के फैसले पर AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने दावा किया है कि नीतीश कुमार सिर्फ नाम के सीएम रहेंगे. सरकार तो आरएसएस और पीएम नरेंद्र मोदी की चलेगी.

AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ‘नीतीश कुमार ने बीजेपी को सरकार सौंप दी. हम लोग इसी चीज को रोकना चाह रहे थे. जब सीमांचल की जनता ने  एआईएमआईएम के पांच विधायकों को जिताया था तो स्पीकर के चुनाव में हमने महाठबंधन का समर्थन किया था. लेकिन तेजस्वी यादव को लगता है कि बिहार की जनता एक तरफ और उनके परिवार से कोई मुख्यमंत्री बन जाए. नीतीश कुमार को लगता है कि मैं जब तक जिंदा रहूं मुख्यमंत्री बना रहूं. बीजेपी को लगता है कि हर चीज हमको मिल जाए, चाहे किसी भी तरीके से हो जाए.’ ओवैसी ने कहा कि बिहार की जनता को नुकसान हो रहा है. उन्हें धोखा दिया जा रहा है. बिहार में विकास रुक चुका है.अफसरशाही बढ़ चुकी है. हम तो शुरू से सीमांचल की लड़ाई लड़ते आए हैं और लड़ते रहेंगे.

आज शाम बन सकती है एनडीए की सरकार

बिहार की राजनीति में बहुत तेजी से घटनाक्रम बदल रही है. कई दिनों से चल रहा कयासों का आज अंत हो गया है. नीतीश कुमार ने आज मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा सौंप दिया है. इस पर उन्होंने कहा कि इस गठंबधन में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा था. इससे तकलीफ हो रही थी. वहीं, नीतीश कुमार के इस्तीफे के बाद एनडीए की सरकार बनने जा रही है.