बगहा: वाल्मीकिनगर लोकसभा क्षेत्र की सीट परिसीमन में बदलाव के बाद पहली बार राजद के खेमे में गयी है. लिहाजा यहां जदयू और राजद में दिलचस्प लड़ाई देखने को मिल सकती है. संभावना जताई जा रही है की बीजेपी के बागी नेता दीपक यादव राजद के कैंडिडेट हो सकते हैं. दीपक यादव ने भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी के पद से इस्तीफा दे दिया है।

भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी के पद से दीपक ने दिया इस्तीफा: आजीवन बीजेपी के साथ रहने का दावा करने वाले भाजपा नेता दीपक यादव ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. वाल्मीकिनगर से प्रत्याशी नहीं बनाए जाने के कारण वो बीजेपी छोड़कर RJD जॉइन कर रहे हैं. 7 अप्रैल को बगहा में होने वाले तेजस्वी यादव के महासभा में दीपक लालटेन थामेंगे और संभावना जताई जा रही है कि वाल्मीकिनगर संसदीय क्षेत्र से राजद के प्रत्याशी होंगे।

7 अप्रैल को आरजेडी में होंगे शामिल: दीपक यादव ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर भाजपा से त्यागपत्र देने और अपने कार्यकर्ताओं के साथ राष्ट्रीय जनता दल ज्वाइन करने की जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि मैं बीजेपी में ठगा हुआ महसूस कर रहा था. उन्होंने एनडीए गठबंधन को ठगबंधन बताते हुए अपनी नाराजगी जाहिर की. दीपक यादव ने बताया कि आगामी 7 अप्रैल को RJD नेता तेजस्वी यादव चम्पारण की इस धरती से आरजेडी के नए वर्जन की शुरुआत करेंगे।

“7 अप्रैल को आरजेडी की बहुत बड़ी महारैली हो रही है. 1 लाख से अधिक लोग इसमें जुटेंगे. आरजेडी की इस रैली में विभिन्न पार्टियों के कई कार्यकर्ता पार्टी जॉइन करेंगे.”- दीपक यादव, बागी बीजेपी नेता

बीजेपी पर साधा निशाना: मीडियाकर्मियों के द्वारा यह पूछे जाने पर कि विगत पांच वर्षों से इलाके में आपकी छवि जय श्री राम के तौर पर बन गई है तो आपकी नई स्ट्रेटजी क्या होगी, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि श्रीराम किसी के बपौती नहीं हैं. राजद सभी धर्म और जाति को एकजुट कर चुनाव लड़ेगी।

RJD बना सकती है प्रत्याशी: बता दें कि वाल्मीकिनगर सीट पर पिछले 35 वर्षों से एनडीए का कब्जा है और इस सीट पर लगातार उप विजेता के तौर पर कांग्रेस का मुकाबला रहा है. पहली बार आरजेडी इस सीट पर अपना प्रत्याशी उतार रही है. ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि जनता इस बार क्या फैसला सुनाती है।