पटना: बिहार में जातीय जनगणना को लेकर पटना हाईकोर्ट ने बड़ा फैसला दिया है। कोर्ट ने साफ कर दिया कि राज्य में जातीय जनगणना जारी रहेगी। अदालत ने जातीय जनगणना पर रोक को लेकर दायर सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया है। पटना हाईकोर्ट के इस फैसले पर बीजेपी ने भी खुशी जतायी है।

बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने पटना हाईकोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। विजय कुमार सिन्हा ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी ने कभी भी जाति आधारित गणना का विरोध नहीं किया है लेकिन बिहार को जातीय उन्माद में धकेला नहीं जाएं। कोर्ट के फैसले का हम सब स्वागत करते हैं।

आपको बता दें कि बिहार में जातीय गणना पर पटना हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है. चीफ जस्टिस के वी चंद्रन की खंडपीठ ने जातीय सर्वेक्षण के विरुद्ध दायर याचिकायों को ख़ारिज कर दिया है. राज्य सरकार को पटना हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है. अब बिहार सरकार राज्य में जातिय गणना करवा सकती है. आज HC ने करीब 100 पन्नों का आदेश जारी किया. आपको बता दें कि बिहार सरकार द्वारा करवाई जा रही जाति आधारित गणना पर 4 मई को पटना हाईकोर्ट के तरफ रोक लगा दी गई थी. साथ ही कोर्ट ने आदेश दिया था कि अब तक जो डेटा कलेक्ट हुआ है, उसे नष्ट नहीं किया जाए।