डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को Z+ सुरक्षा मिलने पर BJP ने उठाया सवाल, तो CM नीतीश कुमार ने दिया करारा जवाब

बिहार में महागठबंधन की सरकार बनने के बाद उपमुख्यमंत्री बनते ही तेजस्वी यादव की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. गृह विभाग की ओर से तेजस्‍वी यादव को जेड प्लस की सुरक्षा दी गई है और उन्‍हें बुलेट प्रूफ गाड़ी भी दी गई है. तेजस्वी यादव की सुरक्षा पर बीजेपी ने सवाल उठाया है. सुशील मोदी ने तेजस्वी यादव की सुरक्षा पर सवाल उठाते हुए कहा कि जिनका राजपाट आते ही जनता सहम जाती है, भला उनको किससे इतना खतरा है कि सुरक्षा बढ़ायी जा रही है?. बीजेपी के आरोप पर सीएम नीतीश कुमार ने जवाब देते हुए कहा कि तेजस्वी डिप्टी सीएम हैं और उसे क्यों नहीं मिलनी चाहिए सुरक्षा?. साथ ही उन्होंने कहा कि ये सब सवाल बकवास है।

बीजेपी द्वारा डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के जेड प्लस सुरक्षा कवर पर सवाल उठाया गया तो बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि उन्हें इसका विरोध क्यों करना चाहिए? तेजस्वी डिप्टी सीएम हैं और उसे क्यों नहीं मिलनी चाहिए सुरक्षा? नीतीश कुमार ने सुशील मोदी के सवाल पर कहा कि वे बकवास बोलते हैं, यह सब बेकार है. दरअसल बीजेपी से राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने तेजस्वी यादव की सुरक्षा पर सवाल उठाते हुए कहा कि बिहार में 12 साल तक उप मुख्यमंत्री रहा, लेकिन सरकार को न मुझे बुलेट प्रूफ गाड़ी देने की जरूरत महसूस हुई, न जेड-प्लस सुरक्षा की. मामूली सुरक्षा के बीच मैंने 1, पोलो रोड के सरकारी आवास से लंबे समय तक जनता की सेवा की. उन्होंने लिखा कि जिनका राजपाट आते ही जनता सहम जाती है, भला उनको किससे इतना खतरा है कि सुरक्षा बढ़ायी जा रही है?

बता दें कि बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की महागठबंधन सरकार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के उप-मुख्यमंत्री बनते ही राज्य सरकार ने जेड कैटेगरी का सुरक्षा कवर दिया है. तेजस्वी के पास नेता विरोधी दल के नाते अब तक वाई कैटेगरी की सिक्योरिटी थी जिसे सरकार ने अपग्रेड कर दिया है. अभी तक राज्यपाल, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आदि को जेड प्लस की सुरक्षा मिली है. अब इस लिस्ट में तेजस्वी यादव भी आ गए हैं. तेजस्वी यादव अब बुलेटप्रूफ कार से चलेंगे और उनकी सुरक्षा में करीब 40 कमांडो और जवान हमेशा तैनात रहेंगे. तेजस्वी यादव को जेड कैटेगरी की सुरक्षा में हमेशा 40 गोरखा जवान, बीएमपी जवान और स्पेशल ब्रांच के अधिकारी घेरे रहेंगे. बुलेटप्रूफ कार से लेकर बाकी सुरक्षा इंतजाम चालू हो गया है और तेजस्वी गुरुवार को घर से बाहर नई सुरक्षा व्यवस्था में ही निकले. तेजस्वी के काफिले में उनकी बुलेटप्रूफ कार के अलावा सात गाड़ियां एस्कॉर्ट में चलेंगी, जिस पर सुरक्षा में लगे अधिकारी और जवान होंगे।

बता दें कि नीतीश और तेजस्वी की सरकार का 24 अगस्त को सदन में फ्लोर टेस्ट होगा. जहां उन्हें बहुमत साबित करना होगा. सीएम और डिप्टी सीएम तो तय हो गया है लेकिन बिहार के नए मंत्रिमंडल की तस्वीर अभी साफ नहीं हुई है. सरकार में कौन-कौन शामिल होगा, किसके कितने मंत्री बनेंगे, यह सब अभी तय नहीं हुआ है. हालांकि माना जा रहा है कि महागठबंधन में इस बात पर सहमति बन रही है कि 5 विधायक पर एक मंत्री बनाया जाएगा. बतातें चलें कि नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव ने राज्यपाल फागू चौहान को 164 विधायकों का समर्थन पत्र सौंपा है. इसमें जेडीयू के 45, आरजेडी के 79, लेफ्ट के 16, कांग्रेस के 19, निर्दलीय एक और हम के चार विधायक शामिल हैं।