• Sat. Dec 10th, 2022

नकली अधिकारी बनकर बदमाश लोगों को अपना शिकार बनाया, 35 लाख की लूट को दिया अंजाम

ByShivam Choudhary

Jan 31, 2022

बॉलीवुड की बहुचर्चित फिल्म ‘स्पेशल 26’ आपने देखी होगी। फिल्म में यह दिखाया गया कि कैसे नकली अधिकारी बनकर बदमाश लोगों को अपना शिकार बनाते हैं। ‘स्पेशल 26’ फिल्म की तर्ज पर बिहार के लखीसराय में लूट की बड़ी वारदात को अंजाम दिया गया है। फर्जी आईटी अधिकारी बनकर अपराधियों ने बालू ठेकेदार को करीब 35 लाख रुपये का चूना लगाया है।

घटना लखीसराय के कबैया थाना क्षेत्र की है जहां फर्जी इनकम टैक्स ऑफिसर बनकर एक बालू ठेकेदार को अपराधियों ने अपना निशाना बनाया। अपराधियों ने दिनदहाड़े 25 लाख रुपये लूट लिए। साथ ही 10 लाख रुपये के जेवरात भी लेकर फरार हो गये।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि स्कॉर्पियो सवार 5 अपराधी नकली आईटी अधिकारी बनकर बालू ठेकेदार के घर पर पहुंचे थे। अपराधियों ने इस दौरान हथियार के बल पर बालू ठेकेदार से 25 लाख रुपये लूट लिये वही घर में रखे 10 लाख रुपये के गहने भी लेकर फरार हो गये। इस घटना से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। पीड़ित ने इस पूरी घटना की जानकारी पुलिस को दी है। फिलहाल पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

वही घर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में बदमाशों की तस्वीर कैद हो गयी है। सामने आए इस फोटों में एक स्कॉर्पियो नजर आ रही है। जिसका रजिस्ट्रेशन नंबर BR09PA/0918 है। जिस पर सवार होकर दो महिला समेत सात की संख्या में अपराधी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का फर्जी अधिकारी बनकर बालू कारोबारी संजय सिंह के घर पर पहुंचे थे। हालांकि उस वक्त संजय सिंह घर पर नहीं थे। जिसका फायदा उठाते हुए बदमाशों ने लूट की बड़ी वारदात को अंजाम दिया।

स्कॉर्पियों से उतरकर बदमाश बालू ठेकेदार संजय सिंह के घर में घुसे और खुद को आयकर विभाग का अधिकारी बता घर के सभी सदस्यों का मोबाइल अपने कब्जे में ले लिया। बदमाशों ने संजय सिंह की पत्नी से आलमीरा की चाबी मांगी और घर के दरवाजे और खिड़कियों को बंद कर आलमीरा में रखे 25 लाख रुपये कैश और दस लाख रुपये के गहने अपने कब्जे में ले लिया और इस दौरान घर के अन्य जगहों की तलाशी ली।

जब बदमाश कैश और गहने लेकर जाने लगे तब संजय सिंह की पत्नी इसका विरोध करने लगी तब बदमाशों ने उससे कहा कि वे इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के अधिकारी हैं। पति को बोलिएगा कि ऑफिस में आकर मिले और इसे ले जाए। लूट की बड़ी वारदात को अंजाम देने के बाद सभी अपराधी आराम से घर से निकले और स्कॉर्पियो पर बैठकर नौ दो ग्यारह हो गये। जब संजय सिंह घर पहुंचे तो परिजनों ने जब पूरी बातें बतायी तो उनके होश उड़ गये।

परिजनों ने इस बात की भी जानकारी दी कि इनकम टैक्स के अधिकारी आपकों ऑफिस में बुलाए हैं। जब संजय सिंह इनकम टैक्स के दफ्तर में पहुंचे तब वहां किसी ने भी रेड की जानकारी नहीं दी। फिर कुछ देर बात पूरा मामला समझ में आ गया। जिसके बाद पीड़ित बालू ठेकेदार संजय सिंह आनन फानन में कबैया थाने पहुंचे और पूरी घटना की जानकारी पुलिस को दी। जिसके बाद कबैया थानाध्यक्ष पुलिस टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की छानबीन शुरु की। पुलिस फिलहाल पीड़ित के घर के बाहर लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगालने में जुटी है।