कर्नाटक के चित्रदुर्ग में एक डॉक्टर ने बेशर्मी की सभी हदें पार कर दीं। डॉक्टर ने एक सरकारी अस्पताल के ऑपरेशन थिएटर में अपनी मंगेतर के साथ प्रीवेडिंग शूट कराया। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। हालांकि इसके बाद डॉक्टर की सेवाएं खत्म कर दी गईं।

जानकारी के अनुसार, चित्रदुर्ग के भरमसागर क्षेत्र के जिला अस्पताल में अनुबंध पर सेवाएं देने वाले डॉक्टर अभिषेक ने थिएटर में शूट कराया। इस दौरान थिएटर के बेड पर उसने एक व्यक्ति मरीज की तरह लिटाया हुआ है। इसके साथ डॉक्टर के साथ उसकी मंगेतर भी खड़ी है और वह भी डॉक्टर का सहयोग कर रही है।

नकली मरीज की सर्जरी भी की

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में डॉक्टर को एक मरीज की सर्जरी करते देखा जा सकता है। वीडियो के अंत में, जिस व्यक्ति की मरीज के रूप में सर्जरी की गई थी, उसे ऑपरेशन के बाद बैठे हुए देखा गया। वीडियो में विवाह पूर्व शूट के लिए ऑपरेशन थिएटर में कैमरे और लाइट के साथ-साथ लोग भी मौजूद दिख रहे हैं।

वीडियो वायरल होने के बाद हुआ बर्खास्त

वीडियो वायरल होने के बाद जिला कलेक्टर टी वेंकटेश ने आरोपी डॉ. अभिषेक को बर्खास्त करने का आदेश जारी कर दिया। वहीं इसके साथ ही कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री दिनेश गुंडू राव ने सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म एक्स पर कहा कि चित्रदुर्ग के भारमसागर सरकारी अस्पताल के ऑपरेशन थिएटर में विवाह पूर्व फोटो शूट कराने वाले चिकित्सक को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इससे पहले ही संबंधित डॉक्टरों और कर्मचारियों को सावधान रहने का निर्देश दिया जा चुका है ताकि सरकारी अस्पतालों में इस तरह का दुर्व्यवहार न हो। मंत्री ने कहा कि सभी को यह याद रखना चाहिए सरकार ऐसी चिकित्सा सुविधाएं आम लोगों के स्वास्थ्य के देखभाल के लिए प्रदान करती है।