‘महंगाई डायन’ का कहर जारी, 1 दिसंबर को ₹ 594 का मिलने वाला सिलेंडर 1 मार्च को ₹ 819 का हुआ

महंगाई की मार झेल रही जनता को आज एक और झटका लगा है. इस बार आम आदमी की रसोई पर महंगाई की मार पड़ी है. रसोई गैल सिलेंडर आज एक बार फिर 25 रुपये महंगा हो गया. सब्सिडी वाले घरेलू गैंस सिलेंडर के दाम में 1 मार्च यानी आज से फिर 25 रुपये की बढ़ोतरी की गई है. इसके बाद राजधानी दिल्ली में 14.2 किलोग्राम वाले एलपीजी गैस सिलेंडर के दाम अब बढ़कर 794 रुपये से 819 रुपये हो गए हैं.

राष्ट्रीय राजधानी में 1 दिसंबर से लेकर अब तक एलपीजी गैस सिलेंडर 225 रुपये महंगा हुआ है. 1 दिसंबर को एलपीजी गैस की कीमत 594 रुपये से बढ़कर 644 रुपये हो गई थी. इसके बाद 1 जनवरी को 644 रुपये से बढ़कर 694 रुपये हो गई. 4 फरवरी को 694 रुपये से 719 रुपये और इसके बाद 15 फरवरी को 719 रुपये से 769 रुपये हो गई.

इसके बाद फिर से 25 फरवरी को एलपीजी गैस के दाम 25 रुपये बढ़ाया गया, जिसके बाद उसकी कीमत 769 रुपये से बढ़कर 794 हो गई. फिर 1 मार्च को 25 एलपीजी गैस के दाम में 25 रुपये के इजाफे के बाद अब एलपीजी गैस की वर्तमान कीमत 819 रुपये हो गई है. गौरतलब है कि सरकार की तरफ से 12 (14.2 किलोग्राम) सिलेंडर प्रत्येक घर में सब्सिडी पर दिया जाता है.

इधर, कोलकाता में सब्सिडी और कॉमर्शियल दोनों ही गैस सिलेंडर की कीमत बढ़ गई है. सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर की कीमत में 25 रुपये की बढ़ोतरी के बाद अब इसकी कीमत 845.50 रुपये हो गई जबकि कॉमर्शिय गैस सिलेंडर के दाम में 19 रुपये का इजाफा किया गया है.

कैसे तय होते हैं एलपीजी के दाम

  • अंतरराष्ट्रीय मार्केट और मुद्रा के एक्सचेंज रेट से एलपीजी के दाम तय होते हैं
  • करीब हर 15 दिन में LPG सिलेंडर की कीमतों में बदलाव होता है
  • सब्सिडी की रकम में भी हर महीने बदलाव होता है
  • जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में भाव बढ़ते हैं तो सरकार अधिक सब्सिडी देती है
  • जब दरें नीचे आती हैं तो सब्सिडी में कटौती की जाती है

Leave a Reply