28 जनवरी को बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में नौवीं बार शपथ लेने के बाद नीतीश कुमार और उनकी सरकार के लिए आज अग्निपरीक्षा का दिन है। विधानसभा में आज नीतीश सरकार का फ्लोर टेस्ट होना है। इस टेस्ट से पहले राज्य में सियासी लड़ाई जोर हो चली है। आरजेडी और लेफ्ट के विधायक तेजस्वी यादव के आवास में डेरा डाले हुए हैं तो बीजेपी, जेडीयू और कांग्रेस के विधायक होटलों में जमे हुए हैं। यह सभी विधायक सीधे विधानसभा पहुंचेंगे।

नौकरी को लेकर डिप्टी CM का तेजस्वी पर हमला

तेजस्वी पर पलटवार करते हुए विजय सिन्हा ने कहा, ये नौकरी की बात करते हैं। इन्होंने खेत लिखवाकर लोगों को नौकरियां दीं। आपकी सरकार ने जंगलराज बना दिया गया था, लेकिन NDA सरकार में हमने जंगलराज पर काबू कर नागरिकों को सुरक्षित जीवन दिया है।

लोगों का नेचर और सिग्नेचर नहीं बदलता- विजय सिन्हा

तेजस्वी के आरोपों का जवाब देते हुए उपमुख्यमंत्री विजय सिन्हा ने कहा, जो व्यक्ति अपने आपको समाजवादी परिवार का कहते हैं उनका ऐसा चरित्र नहीं होता है। समाजवाद का चरित्र ऐसा नहीं होता कि कथनी और करनी में अलग हो। सत्ता के लिए समझौता करने वाले लोग हैं। वंशवाद की वजह से विवश होकर इनकी प्रताड़ना हमने देखी है। लोगों का नेचर और सिग्नेचर नहीं बदलता है। कई विधायक ऐसे हैं, जिनमें क्षमता है, लेकिन उन्हें महत्व नहीं दिया गया।