महाराष्ट्र के पालघर में जयपुर-मुम्बई एक्सप्रेस ट्रेन में एक RPF कांस्टेबल ने अपने सीनियर एएसआई पर अंधाधुंध गोलीबारी कर दी। इस घटना में एएसआई और 3 अन्य यात्रियों की गोली लगने से मौत हो गई। चेतन नाम के कांस्टेबल ने फायरिंग की। जिसे मीरा रोड से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरपीएफ जवान द्वारा फायरिंग करने की वजह अभी पता नहीं चल सकी है। मामले की जांच चल रही है।

घटना सोमवार सुबह करीब 5 बजे के करीब को घटी। ट्रेन के B 5 कोच में यह फायरिंग हुई। फायरिंग में 4 लोगों को गोली लगने से मौत हो गई। हालांकि फायरिंग होने की वजह का अभी पता नहीं चला है, लेकिन बताया जा रहा है कि आरपीएफ कांस्टेबल और उसके सीनियर एएसआई में किसी बात को लेकर तनातनी और कहासुनी हो गई थी। जिसके बाद कांस्टेबल ने गुस्से में आग बबूला होकर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। फायरिंग पालघर और मुंबई के बीच दहिसर इलाके में ट्रेन में हुई। RPF कांस्टेबल चेतन को मानसिक तनाव में बताया जा रहा है।

मुंबई में डीआरएम नीरज वर्मा ने बताया कि सुबह छह बजे के करीब हमें सूचना मिली कि आरपीएफ जवान ने फायरिंग की है, जिसमें चार लोगों की मौत हुई। आरोपी कांस्टेबल एस्कोर्ट ड्यूटी पर तैनात था। रेलवे अधिकारी मौके पर मौजूद हैं और घटना की आगे की जांच की जा रही है। मृतकों के परिजनों को सूचित कर दिया गया है। मृतकों के परिजनों को मुआवजे का एलान किया जाएगा।

पश्चिमी रेलवे के सीपीआरओ ने बताया कि ‘दुर्भाग्यपूर्ण घटना आज मुंबई-जयपुर सुपरफास्ट एक्सप्रेस में हुई। एक आरपीएफ कांस्टेबल चेतन कुमार ने अपने साथी एएसआई टीकाराम मीणा पर फायरिंग की। इस दौरान तीन अन्य यात्रियों को भी गोली लग गई। शुरुआती जांच में पता चला है कि आरोपी ने अपने सर्विस हथियार से ही गोली चलाई थी। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। गोलीबारी की वजह अभी तक पता नहीं चल पाई है। मामले की जांच की जा रही है।’