अवध आसाम एक्सप्रेस की जनरल बोगी से लाखों का गांजा बरामद, तीन तस्कर गिरफ्तार

बिहार के समस्तीपुर जिले में रेल पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर शनिवार की शाम अवध आसाम एक्सप्रेस ट्रेन की जनरल बोगी से दस पैकेट गंजा बरामद किया है. जब्त गांजा की कीमत दस लाख रुपए से अधिक की बताई जा रही है. रेल पुलिस ने गांजा के साथ तीन तस्कर को भी गिरफ्तार किया है. मिली जानकारी के अनुसार दलसिंहसराय आरपीएफ को गुप्त सूचना मिली थी कि ट्रेन की पीछे वाली जनरल बोगी में कुछ तस्कर गुवाहाटी से गांजा की खेप लेकर दलसिंहसराय स्टेशन पर उतरने वाले हैं.

पुलिस से बचकर भाग रहे थे तस्कर

सूचना मिलने के बाद आरपीएफ पोस्ट के उप निरीक्षक मनु तिवारी, बछवाड़ा आरपीएफ इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार यादव, एएसआई बबन यादव, कर्मवीर प्रसाद सिंह, कांस्टेबल राज कुमार शर्मा, वीरेंद्र कुमार, रौशन कुमार, अमरेश कुमार गुप्ता ने गुवाहाटी से दिल्ली जा रही अप अवध आसान एक्सप्रेस के रुकते ही छापेमारी शुरू कर दी. जांच के क्रम में कुछ युवक सेना के रंग में रंगे दो काला कलर के बक्से के साथ जनरल बोगी से उतरकर पुलिस की नजर से बचते हुए बाहर खड़ी स्कॉर्पियो गाड़ी में बैठने की फिराक में थे.

तीन तस्करों को पुलिस ने दबोचा

हालांकि, शक होने पर आरपीएफ पुलिस के अधिकारियों ने सभी को रोककर तलाशी लेना शुरू किया. तलाशी के दौरान दोनों बक्से के अंदर पांच-पांच पैकेट में गांजा भरा हुआ पाया गया. पुलिसिया कार्रवाई के दौरान तीन तस्कर पकड़े गए. वहीं स्कॉर्पियो चालक गाड़ी लेकर भाग निकला.

पकड़े गए तस्कर की पहचान उजियारपुर थाना क्षेत्र के निकसपुर वार्ड संख्या-2 निवासी रामदेव सिंह के बेटे प्रमोद कुमार सिंह (35 वर्ष), भगवानपुर कमला निवासी वीरेंद्र सहनी के बेटे चंद्रकांत सहनी (20 वर्ष) और अकहा विशनपुर निवासी दिनेश सिंह के बेटे मुकेश कुमार सिंह (20 वर्ष) के रूप में हुई है.

पूछताछ में जुटी पुलिस

इन सभी के पास से पांच मोबाइल फोन और कुछ रुपए भी बरामद हुए हैं. इस संबंध में आरपीएफ के उप निरीक्षक मनु तिवारी ने बताया कि इसकी जानकारी आरपीएफ के वरीय अधिकारियों को दी गई है. कागजी कार्रवाई के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. वहीं, भागने में कामयाब रहे अन्य साथियों के बारे में तस्करों से पूछताछ की जा रही है.