उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में एक भतीजे के चाची संग अवैध संबंधों का खुलासा हुआ है। इस खुलासे के बाद जब चाचा ने भतीजे की पिटाई की तो भतीजे ने दोस्त के साथ मिलकर चाचा को मौत के घाट उतार दिया। इस वारदात को अंजाम देने के लिए भतीजे ने चाचा के सिर पर हथौड़ी से हमला कर दिया। बता दें कि भतीजे ने एक बार नहीं बल्कि कई बार चाचा के सिर पर हथौड़ी से हमला किया। मुरादाबाद जिले के एसपी क्राइम सुभाष चंद्र गंगवार घटना की जानकारी साझा करते हुए कहा कि आरोपी भतीजे सुशील और उसके दोस्त गौरव को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। यह मामला ठाकुरद्वारा के काला झंडा गांव का है।

भतीजे का चाची से अवैध संबंध

दरअसल वारदात की इस घटना ने सबको एक वेबसीरीजी पाताललोक की याद दिला दी है। पाताललोक वेबसीरीज में हथौड़ा त्यागी नाम के एक अपराधी होता है, जो हथौड़ी से हत्या करता है। बता दें कि मुरादाबाद जिले के थाना ठाकुरद्वारा के गांव कालाझंडा में नारायण सिंह अपने परिवार के साथ रहते हैं। नारायण सिंह के दोनों बेटे एक साथ एक ही घर में रहते हैं। बस घर के बीचो-बीच एक बंटवारे की दीवार खड़ी है। बेटे सुशील का अवैध संबंध अपनी ही सगी चाची के साथ था। चाचा राजीव ने अचानक अपनी पत्नी और भतीजे सुशील को आपत्तिजनक हालत में एक कमरे में देख लिया। इसके बाद राजीव आग बबूला हो गया और दोनों की जमकर पिटाई कर डाली।

भतीजे ने चाचा की हथौडी से पीटकर की हत्या

पिटाई के बाद सुशील को बेइज्जती महसूस हुई। उसके बाद सुशील ने अपने चाचा को जान से मारने की योजना बनाई। इसमें उसका साथ दिया सुशील के दोस्त गौरव ने। पहले तो गौरव ने मना कर दिया लेकिन सुशील ने उसे दोस्ती का वास्ता देकर मना लिया। इसके बाद दोनों चाचा की तलाश में लग गए। 6 फरवीर को सुशील ने चाचा राजीव को एक दोस्त के साथ गांव में घूमते हुए देखा। सुशील ने चाचा को शराब पीने के बहाने के गांव के बाहर बुलाया। इसके बाद सुशील ने अपने चाचा के सिर पर हथौड़ी से हमला कर दिया। उसने एक बार नहीं बल्कि कई बार हमला किया। बता दें कि इसके बाद दोनों ने शव को खेत में छोड़ दिया और हथौड़ी को छिपा दिया। बता दें कि घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने भतीजे सुशील से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल लिया। साथ ही गौरव को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।