पुलिस जनता की सुरक्षा करती है लेकिन उसी पुलिस की रक्षा करने के लिए कोई आगे नहीं आता। ऐसे में सबसे बड़ा जो सवाल खड़ा होता है वह ये कि इन पुलिसकर्मियों की रक्षा कौन करेगा? इनके भी परिवार और बच्चे होते हैं। ऐसा इसलिए कहना पड़ रहा है क्योंकि आजकल बढ़ते अपराध के बीच पुलिस भी सुरक्षित नहीं है। ताजा मामला मैनपुरी के कोतवाली क्षेत्र का है। जहां एक पुलिसकर्मी पर कुछ दबंगों ने हमला बोल दिया। पीड़ित पुलिसकर्मी मैनपुरी पुलिस की एसओजी टीम में सिपाही के पद पर तैनात है। जिसका नाम प्रदीप सोलंकी है। पुलिसकर्मी के साथ मारपीट करने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

मारपीट कर छीन ले गए पिस्टल, वीडियो CCTV में हुआ रिकॉर्ड

वीडियो में साफतौर पर दिख रहा है कि एक सिपाही को कुछ लोगों ने चारो तरफ से घेर रखा है और उसे सभी उसे मिलकर मार रहे हैं। पुलिसकर्मी खुद को बचाने की कोशिश कर रहा है लेकिन दबंग उसे बुरी तरह से पीट रहे हैं। इसके बाद वह पुलिसकर्मी से उसकी सरकारी पिस्टल छीन लेते हैं और उसे बहुत मारते हैं। साथ में खड़े अन्य पुलिसकर्मी चुपचाप खड़े हैं और कोई भी अपने साथी को बचाने की कोशिश नहीं कर रहा है। मामले में कुछ लोग पुलिसकर्मी को दबंगों के चुंगल से उसे छुड़ाते हैं। जिसके बाद दबंग वहां से चलते बनते हैं। मामले का वीडियो पास में लगे CCTV कैमरे में रिकॉर्ड हो गया जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

पुलिस ने दबंगों पर नहीं की कोई कार्रवाई

इस घटना के बाद पुलिस की तरफ से दबंगों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। बताया जा रहा है कि आरोपी सत्ता पक्ष से जुड़े हुए हैं। जिस वजह से पुलिस इस मामले में कार्रवाई करने से हिचकिचा रही है। फिलहाल पुलिस ने इस मामले को ठंडे बस्ते में डालकर रफा-दफा कर दिया है। अगर अपराधियों के मन से पुलिस का खौफ ही निकल जाएगा तो प्रशासन व्यवस्था के होने का क्या फायदा। कानून को तो अपराधी अपने जेब में लेकर चलेंगे और जब पुलिस ही सुरक्षित नहीं है तो इस दबंगों से आम आदमी क्या ही सुरक्षित हो पाएगा।