जनता दल यूनाइटेड के मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार ने दावा किया है कि एनडीए के सभी 128 विधायक एकजुट हैं. उन्होंने कहा कि खेला तो विपक्षी खेमे में होगा. कांग्रेस विधायकों के हैदराबाद शिफ्ट करने पर जेडीयू प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस के विधायकों के फोन स्वीच ऑफ हैं. विधायक धोती पहनकर मंदिर में कसम खा रहे हैं. उन्होंने कहा कि 12 फरवरी को आरजेडी और कांग्रेस के विधायक भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समर्थन में वोट करेंगे।

”बिहार में जो लोग दावा कर रहे हैं खेला होगा? यहां मेला लगेगा. मेला ऐसा कि गठबंधन के घटक दल, कांग्रेस के विधायकों को मंदिर-मंदिर ले जाकर तेलंगाना में कसम खिलाया जा रहा है, कि महादेव का कसम खाओ कि तुम पार्टी के साथ रहोगे. राष्ट्रीय जनता दल के विधायक लापता है, उनका फोन स्वीच ऑफ है. जिनका मोबाईल ही स्वीच ऑफ है, जिनको मंदिर मंदिर कसम खिलाया जा रहा है. माननीय नीतीश कुमार का काम बोलता हैं, इसका असर 12 फरवरी के फ्लोर टेस्ट पर दिखाई देगा.”- नीरज कुमार, मुख्य प्रवक्ता, जेडीयू

जेडीयू पर आरजेडी का पलटवार: वहीं, जेडीयू प्रवक्ता के दावे पर पलटवार करते हुए आरजेडी सांसद मनोज झा ने कहा कि खेला तो होकर रहेगा. उन्होंने कहा कि 17 साल बनाम 17 महीने के उपलब्धि से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ-साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह भी चिंतित हैं. उन लोगों को डर है कि कहीं एनडीए के विधायक खेल ना कर देंगे।

”ये लोग आरजेडी को नहीं जानते हैं. जब हम अपने सबसे निचले दौर पर थे तब भी लोग सफल नहीं हो सके. अभी तो एक लकीक खींच दी है. 17 साल बनाम 17 महीने, और उस लकीर से सबसे ज्यादा चिंतिंत हैं, मोदी और अमित शाह. हम 12 फरवरी को एक सामान्य दिन की तरह ले रहे हैं. हमारे विधायक विधानसभा जाएंगे और हमेशा की तरह कार्यवाही में हिस्सा लेंगे.”- डॉ. मनोज झा, राज्यसभा सांसद, राष्ट्रीय जनता दल