पटना: शिक्षा विभाग के ACS केके पाठक की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. पटना हाईकोर्ट में TET-STET पास नियोजित शिक्षक संघ की दायर PIL पर आज सुनवाई होगी. दरअसल शिक्षक संघ ने शिक्षा विभाग के ACS केके पाठक की कार्रवाई को लेकर याचिका दायर की. आपको बता दें केके पाठक द्वारा आंदोलन में शामिल शिक्षकों पर की गई कार्रवाई की गई. इसके अलावा ने शिक्षकों की छुट्टियों को रद्द करने, वेतन स्थगित करने सहित और अन्य प्रकार से बिहार के नियोजित शिक्षकों के बीच भय का माहौल पैदा करने आदि के मुद्दे को लेकर TET-STET पास नियोजित शिक्षक संघ ने पटना हाईकोर्ट में PIL दायर की है. इस PIL की सुनवाई चीफ जस्टिस के बेंच में 51 नबंर पर लिस्टेड है।

आपको बता दें कि बिहार में शिक्षा विभाग की ओर से सख्ती लगातार बढ़ाई जा रही है. स्कूली शिक्षा को लेकर एक के बाद एक निर्णय लिए जा रहे हैं. शिक्षकों की उपस्थिति को लेकर भी कई नियम निकाले गए हैं. वहीं, स्कूल में शिक्षक की उपस्थिति नहीं होने पर वेतन रोकने जैसे कार्रवाई की जा रही है. कई प्रधानाचार्यों पर भी गाज गिर चुकी है. किसी का वेतन रूक चुका है तो कई सारे शिक्षक निलंबित तक किये जा चुके हैं. जिसके बाद शिक्षकों में हड़कंप मचा हुआ है।

हाल ही में केके पाठक ने कोचिंद संस्थाओं को लेकर भी एक नया फरमान जारी किया है. प्रदेश के सभी जिला अधिकारियों को पत्र लिख कर कहा है कि सुबह नौ से शाम चार बजे तक कोचिंग संस्थानों को कक्षाएं संचालित करने की अनुमति नहीं दी जाये. पत्र में कहा गया है कि कोचिंग इंस्टीट्यूट एक्ट 2020 को कारगर बनाये जाने की जरूरत है, ताकि स्कूलों में शिक्षकों व छात्र-छात्रओं की उपस्थिति सुनिश्चित हो सके. कोचिंग संस्थानों पर यह नियम 31 अगस्त, 2023 के बाद से सख्ती से लागू किये जायेंगे. इसके लिए सभी डीएम को अगस्त में तीन चरणों में अभियान चलाने का निर्देश जारी किया गया है।