बिहार में राजद सुप्रीमो लालू यादव के छोटे साले सुभाष यादव ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। रंगदारी के एक मामले में कुर्की आदेश का इस्तेहार जारी होने के बाद सुभाष यादव ने सरेंडर किया है। बिहाट थाने के इस मामले में मंगलवार को पुलिस जेसीबी लेकर सुभाष यादव के घर भी पहुंची थी।

बता दें कि बिहार में सरकार बदलने के बाद राजद नेता लालू यादव के परिवार के खिलाफ यह बड़ा एक्शन माना जा रहा है। एक दिन पहले ही उप मुख्यमंत्री सम्राट चौधरी ने विधानसभा में विश्वासमत प्रस्ताव के दौरान भाषण देते हुए कहा था कि एक-एक की फाइल खुलवाऊंगा।

क्या है मामला

जानकारी के अनुसार, ये मामला बिहटा थाना में दर्ज है। रंगदारी से जुड़े इस मामले में ही राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के छोटे साला सुभाष यादव ने सरेंडर किया है। मंगलवार को पुलिस उनके घर कुर्की के लिए जेसीबी लेकर पहुंची थी। बता दें कि कोर्ट के कुर्की आदेश का इस्तेहार भी जारी हुआ था। ऐसे में सुभाष यादव ने कुर्की से बचने के लिए खुद ही कोर्ट में जाकर समर्पण कर दिया।

पुलिस बोली- हमारे आने से पहले किया सरेंडर

कुर्की की कार्रवाई के लिए पहुंची स्थानीय महिला पुलिस अधिकारी ने कहा कि यह रंगदारी का पुराना मामला था। इसमें कुर्की-जब्ती का आदेश हमें कोर्ट से मिला था।

इसी कार्रवाई के लिए यहां (सुभाष यादव के घर) आए थे। हालांकि, हमारे यहां आने से पहले ही उन्होंने (सुभाष यादव ने) सरेंडर कर दिया। इसके बाद कुर्की-जब्ती की कार्रवाई को रोक दिया गया।