पटना में आज नियोजित शिक्षकों पर पुलिस ने जमकर लाठियां बरसाई। इस दौरान वीरचंद पटेल पथ पर बीजेपी कार्यालय के पास अफरा तफरी का माहौल हो गया। विरोध कर रहे शिक्षकों को इस दौरान पुलिस ने दौड़ा दौड़ा पीटा। यहाँ तक की महिला शिक्षकों की बेरहमी से पिटाई की गयी है। जिससे कई शिक्षकों को गंभीर चोट लगी है।

बताते चलें की सक्षमता परीक्षा के विरोध में नियोजित शिक्षक सुबह से ही गर्दनीबाग धरना स्थल पर धरना दे रहे थे। हालाँकि शाम के क़रीब 5 बजे मुख्य सचिव के प्रतिनिधि उन शिक्षकों से बात करने आये।

उसके बाद नियोजित शिक्षकों के प्रतिनिधि मुख्य सचिव के दफ्तर जाते हैं, हालांकि बात नहीं बनती है। जिसके बाद से नियोजित शिक्षकों ने भारतीय जनता पार्टी के दफ्तर घेराव करने का निर्णय लिया।

उसके बाद नियोजित शिक्षकों ने भाजपा कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया।  कुछ ने बीजेपी कार्यालय के अंदर प्रवेश करने की कोशिश किया। जिसके बाद भाजपा कार्यालय का दरवाजा बंद कर दिया गया। हालांकि पुलिस भाजपा कार्यालय के बाहर मुस्तैद थी। उसके बाद जब नियोजित शिक्षक सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी से मिलने की जिद पर अड़े रहे।

उसके बाद पुलिस के द्वारा उन तमाम शिक्षकों को बीजेपी दफ्तर से हटाने की कोशिश की गयी। हालांकि शिक्षक नही हटने की जिद करने लगे। उस पर पुलिस द्वारा लाठी चार्ज किया गया। जिसमे शिक्षको के साथ पुरुष पुलिसकर्मी  के द्वारा महिला शिक्षकों पर जमकर लाठियां बरसाई गयी।

उसके बाद कई महिला शिक्षिका घायल हो गयी। उसके बाद भाजपा कार्यालय से उप मुख्यमंत्री सम्राट चौधरी गाड़ी से बाहर निकल गए। वहीँ घायल महिला शिक्षिका को पुलिस उठाकर ऑटो में भरकर उन्हें अस्पताल ले गयी।