मणिपुर हिंसा मामले पर संसद के दोनों सदनों में रोजाना बहस देखने को मिल रही है। इस कारण प्रतिदिन लोकसभा की कार्यवाही स्थगित की जा रही है। शुक्रवार यानी 28 जुलाई को भी संसद में गतिरोध जारी रहा। विपक्षी दलों के हंगामे और नारेबाजी के बीच दोनों सदनों की कार्यवाही को 31 जुलाई यानी सोमवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। इस बीच आपको बता दें कि आज विपक्षी दल INDIA के नेता मणिपुर यात्रा पर जाने वाले हैं। यहां विपक्षी दल के नेता मणिपुर हिंसा के पीड़ितों से मुलाकात करेंगे साथ ही राज्य में हालात का जायजा लेंगे।

मणिपुर के प्रतिनिधिमंडल में होंगे ये लोग

विपक्षी दलों के नेताओं का यह दो दिवसीय दौरा होगा जो रविवार तक जारी रहेगा। विपक्षी दलों के प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी, गौरव गोगोई और फूलोदेवी नेताम, जेडीयू के राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह एव अनिल हेगड़े, तृणमूल कांग्रेस की सुष्मिता देव, झारखंड मुक्ति मोर्चा की महुआ माजी, डीएमके की कनिमोई, एनसीपी के पीपी मोहम्मद फैजल, आरएलडी के जयंत चौधरी, राजद के मनोज कुमार झा, रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी के प्रेमचंद्रन और वीसीके पार्टी के टी थिरुमावलवन शामिल रहेंगे। साथ ही शिवसेना यूबीटी, समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी के प्रतिनिध भी इस दौरे पर जाएंगे।

भाजपा नेताओं ने साधा निशाना

विपक्षी गठबंधन इंडिया के प्रतिनिधिमंडल के मणिपुर दौरे को लेकर भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि उन्हें विपक्षी नेताओं के मणिपुर जाने से कोई आपत्ति नहीं है। लेकिन उन्हें वहां स्थिति को खराब नहीं करनी चाहिए। भाजपा सांसद और एक्टर और रवि किशन ने भी विपक्षी दलों के नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें पाकिस्तान और चीन भी जाना चाहिए क्योंकि वहां इनकी मांग ज्यादा है। गौरतलब है कि बीते दिनों एक महिला को नग्न करके घुमाने का वीडियो वायरल हुआ था जिसके बाद से यह मामला और गर्माया हुआ है।