महाराष्ट्र से भागलपुर आने वाली ट्रेनाें के सभी यात्रियाें का हाेगा टेस्ट

भागलपुर:- भागलपुर में कोरोना से 24 घंटे के अंदर दो और लोगों की मौत हो गई। दोनों की मौत मायागंज अस्पताल के आईसीयू में हुई है। इसके अलावा अाईसीयू में खंजरपुर के एक अाैर मरीज की माैत हो गई। उसकी काेराेना से माैत हुई या किसी अन्य कारण से इसकी पुष्टि नहीं हाे पाई है। बुधवार काे जिले में 82 नए संक्रमित मिले। इनमें छह डॉक्टर भी शामिल हैं। उधर, स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत काेराेना के बढ़ते संक्रमण काे लेकर हालात की जानकारी लेने यहां पहुंचे थे। उन्हाेंने अधिकारियाें के साथ बैठक की अाैर मेडिकल काॅलेज अस्पताल पहुंचे। जब वह अाईसीयू में गए ताे वहां मरीज के साथ उनके परिजन भी थे। प्रधान सचिव आईसीयू में मरीजों के पास बाहर से मंगाया खाना देखकर चाैंक गए। मरीजों से इसका कारण पूछा। इस पर मरीजों ने बताया कि डॉक्टर राउंड पर नहीं आते हैं। समय पर खाना-पीना नहीं मिलता है। अटेंडेंट रखकर बाहर से खाने-पीने का सामान मंगाना पड़ता है। जरूरत का सामान भी मरीजों काे नहीं मिलता है। यह सुनकर प्रधान सचिव बोले-हाउ डिस्गस्टिंग! अधीक्षक से प्रधान सचिव ने कहा कि ये व्यवस्था ठीक नहीं है। यह बर्दाश्त नहीं होगा। इसके बाद वे नाराज होकर आईसीयू से बाहर निकले और मीडिया से कहा कि वह यहां की व्यवस्था से खुश नहीं हैं। कुछ देर बाद ही उन्हाेंने अस्पताल अधीक्षक डाॅ. अशाेक कुमार भगत काे पद से हटा दिया। उनकी जगह उपाधीक्षक रहे डाॅ. असीम कुमार दास काे अधीक्षक का प्रभार दिया गया है।

Leave a Reply