मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे 3 दिसंबर को घोषित किए थे। भारतीय जनता पार्टी को 163 सीटों के साथ पूर्ण बहुमत मिला। इसके बाद सात दिनों से लोग नए सीएम का इंतजार करते रहे। आज भोपाल में बीजेपी के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक हो रही है, जिसमें मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री का फैसला होगा। सीएम की रेस में शिवराज सिंह चौहान, प्रह्लाद सिंह पटेल, नरेंद्र सिंह तोमर, राकेश सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया और बी डी शर्मा जैसे नेताओं के नाम पर चर्चा हो रही है। बीजेपी राष्ट्रीय कार्यसमिति ने मनोहर लाल खट्टर, आशा लकड़ा और के लक्ष्मण को पर्यवेक्षक बनाकर भेजा है। माना जा रहा है कि पीएम मोदी नए चेहरे को सामने लाकर सभी को चौंका सकते हैं।

आरएसएस के करीबी डॉ. मोहन यादव को मिला एमपी का ताज

उज्जैन दक्षिण के विधायक मोहन यादव राष्ट्रीय स्वयंसेवक के करीबी हैं। इसके साथ ही शिवराज सिंह चौहान के 16 साल के शासन के बाद मध्यप्रदेश को नया चेहरा मिल गया है। बीजेपी ने ओबीसी चेहरे के तौर पर मोहन यादव को आगे किया है। 1965 में पैदा हुए डॉ. मोहन यादव को चुन लिया गया है।
बीजेपी ने मध्यप्रदेश ने चौंकाया, मोहन यादव होंगे नए सीएम

बीजेपी ने उत्तर दक्षिण के विधायक मोहन यादव को मध्यप्रदेश का नया सीएम चुन लिया है। बीजेपी नेतृत्व का यह फैसला चौंकाने वाला है। वह शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे।
पर्यवेक्षक मनोहर लाल खट्टर ने अपना भाषण शुरू किया, एक सीएम दो डिप्टी सीएम का फार्मूला
बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बी डी शर्मा के भाषण के बाद पर्यवेक्षक मनोहर लाल ने विधायक दल को संबोधित करना शुरू कर दिया है। अगले कुछ क्षण में सीएम के नाम का ऐलान हो सकता है। छत्तीसगढ़ के तर्ज पर एक सीएम और दो डिप्टी सीएम बनाने का फार्मूला लेकर आए हैं पर्यवेक्षक।