बिहार में एनडीए की सरकार के फ्लोर टेस्ट के बाद बीजेपी विधायक नंद किशोर यादव बिहार विधानसभा के नए अध्यक्ष बनेंगे। मंगलवार को सुबह साढ़े 10 बजे बजे नॉमिनेशन करेंगे। नंद किशोर यादव बीजेपी के वरिष्ठ नेता हैं और बिहार सरकार में लंबे समय तक मंत्री रहे हैं।

दरअसल, एनडीए की सरकार के विश्वासमत हासिल करने के बाद आरजेडी कोटे से स्पीकर बने अवध बिहारी चौधरी की विदाई हो गई। पहले तो वे विधानसभा अध्यक्ष की कुर्सी छोड़ने को तैयार नहीं थे लेकिन फ्लोर टेस्ट से पहले सदन में उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव आया और 125 सदस्यों ने उनके हटाने के प्रस्ताव को अपनी सहमति दी जबकि 112 सदस्यों ने उनके पक्ष में वोट किया और आखिरकार उन्हें स्पीकर की कुर्सी छोड़नी पड़ी।

इस बार भी एनडीए की सरकार में स्पीकर का पद बीजेपी को मिला है। एनडीए की पिछली सरकार में विजय कुमार सिन्हा स्पीकर हुआ करते थे। अब जब बिहार में फिर से एनडीए की सरकार बनी है तो स्पीकर की कुर्सी फिर से बीजेपी के पास है। पटना साहिब सीट से बीजेपी विधायक नंदकिशोर यादव को बिहार विधानसभा का अध्यक्ष बनाने का फैसला लिया गया है। नंदकिशोर यादव कल यानी मंगलवार को स्पीकर पद के लिए अपना नामांकन दाखिल करेंगे।

बता दें कि 1978 में पहली बार नंदकिशोर यादव पटना नगर निगम से पार्षदी का चुनाव जीते और 1982 में पटना के उपमहापौर चुने गए। साल 1983 में पटना महानगर अध्यक्ष और 1990 में बीजेपी के युवा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाए गए। साल 1995 में नंदकिशोर यादव पटना के पूर्वी क्षेत्र से विधानसभा का चुनाव लड़े और विधायक चुने गए। सके बाद पटना साहिब विधानसभा सीट से नंदकिशोर यादव बीजेपी के टिकट पर लंबे समय से विधायक रहे हैं। एनडीए की सरकार में वे कई विभागों के मंत्री के रूप में दायित्व संभाल चुके हैं।