बिहार में सियासी फेरबदल के बीच एनडीए की सरकार को आज यानि 12 फरवरी को सदन में फ्लोर टेस्ट देना है. इस बीच हर विधायक द्वारा अलग-अलग दावे किए जा रहे है. एक तरफ जहां जेडीयू के मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार दावा कर रहे है कि एनडीए के पक्ष में बहुमत सिद्ध होगा. तो वहीं, राजद विधायक सुधाकर सिंह ने कहा है कि राज्य में महागठबंधन के लोग सरकार बनाएंगे।

नई सरकार की अग्निपरीक्षा: दरअसल, बिहार में एनडीए सरकार की आज अग्निपरीक्षा होने वाली है. ऐसा इसलिए क्योंकि आज एनडीए सरकार का फ्लोर टेस्ट होना है. आरजेडी और विपक्षी खेमा लगातार ‘खेला’ होने का दावा कर रहा है, लेकिन सत्ता पक्ष का कहना है कि उसके पास 128 विधायकों का समर्थन प्राप्त है।

पहले बहुमत सामने रखे एनडीए: इन सभी बात-विवादों के बीच राजद विधायक ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने सदन के बाहर मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि किसी भी हालत में नई सरकार बहुमत सिद्ध नहीं कर पाएगी. उन्होंने कहा कि सबसे पहले विधानसभा अध्यक्ष को हटाने के लिए जो प्रकिया चाहिए उसे पहले सरकार पूरा करें. उन्होंने कहा कि नियम के अनुसार ही विधानसभा अध्यक्ष को हटाया जा सकता है. उसके लिए एनडीए सरकार को सबसे पहले बहुमत सामने रखना होगा. उसके बाद ही सदन में कार्रवाई की जाएगी।

तेजस्वी यादव सरकार बनाएंगे: सुधाकर सिंह ने दावा करते हुए कहा कि सरकार के साथ बहुमत नहीं है. यही कारण है कि सरकार की फ्लोर टेस्ट में फैल होगी. उन्होंने कहा कि सरकार के फैल होने के बाद महागठबंधन के लोग आराम से सरकार बनाएंगे. यह तय है कि तेजस्वी यादव सरकार बनाएंगे. वही, जो रणनीति हमने बनाई है निश्चित तौर पर उसमें हम लोग सफल होंगे।

“बिहार सरकार लगातार पुलिस का गलत इस्तेमाल कर विधायकों को डराने धमकाने का काम कर रही है. रात भर पुलिस ने विधायकों को डराने धमकाने का काम किया है. लेकिन उससे कुछ होने वाला नहीं है. सदन में निश्चित तौर पर नई सरकार बहुमत सिद्ध नहीं कर पाएगी.” – सुधाकर सिंह, राजद विधायक