पटना: एक बार फिर से बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सह बीजेपी सांसद सुशील मोदी ने विपक्ष पर करारा हमला बोला है. उन्होंने INDIA के उस प्रतिनिधि मंडल व सांसदों पर करारा हमला बोला है जो मणिपुर गए हैं. उन्होंने कहा कि विपक्षी सांसदों को मणिपुर के बाद पश्चिम बंगाल और राजस्थान का दौरा भी करना चाहिए और वहां के पीड़ितों से मुलाकात करनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल के पंचायत चुनाव के दौरान हिंसा में 100 से ज्यादा मारे गए. साथ ही सुशील मोदी ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार के द्वारा पूर्व सांसदों और विधायकों व मौजूदा सांसदों – विधायकों से मुलाकात को लेकर भी तंज कसा है. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार सिर्फ पार्टी बचाने के लिए ऐसा कर रहे हैं।

सुशील कुमार मोदी ने कहा कि मणिपुर के राजनीतिक पर्यटन से लौटने पर विपक्षी गठबंधन के सांसदों को पश्चिम बंगाल भी जाना चाहिए, जहाँ पंचायत चुनाव के दौरान हुई व्यापक हिंसा में 100 से ज्यादा कार्यकर्ता मारे गए और महिलाओं के साथ बर्बरता हुई. वहाँ भाजपा के ही नहीं, कांग्रेस, माकपा के भी लोग हिंसा का शिकार हुए और लोकतंत्र का चीरहरण हुआ. उन्होंने कहा कि बंगाल की चुनावी हिंसा रोकने के लिए कोलकाता हाईकोर्ट को हस्तक्षेप करना पड़ा और केंद्र सरकार को वहाँ केंद्रीय अर्ध सैनिक बलों की टुकड़ियां भेजनी पड़ीं।

इसके बावजूद विपक्षी सांसदों ने केवल मणिपुर को टार्गेट किया. सुशील मोदी ने कहा कि हत्या, बलात्कार और बर्बरता घटनाएँ राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी हुईं, लेकिन विपक्षी गठबंधन ने इन राज्यों के पीड़ितों से जाकर मिलना जरूरी नहीं समझा. उन्होंने कहा कि मणिपुर के मुद्दे पर एक सप्ताह से बाधित संसद को अब विपक्षी गठबंध्न के लोग चलने दें, ताकि जनहित के विधायी कार्य पूरे हो सकें।