पटना: 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए पक्ष और विपक्ष दोनों तैयार हैं. बीजेपी ने भी इसके लिए अपनी कमर कस ली है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार से एनडीए सांसदों के साथ मुलाकात शुरू कर दी है. सांसदों की बैठक में PM मोदी ने बिहार और पंजाब का उदाहरण दिया. उन्होंने कहा कि स्वार्थ नहीं त्याग की भावना से NDA बना है. सांसदों से बातचीत के दौरान पीएम मोदी ने उन्हें जीत का मंत्र भी दिया।

पीएम मोदी ने सांसदों से बातचीत के दौरान सभी को त्याग भावना का मंत्र दिया. उन्होंने उदाहरण देते हुए सीएम नीतीश और अकाली दल का नाम लिया. पीएम मोदी ने कहा कि ‘नीतीश कुमार से ज्यादा विधायक होते हुए भी नीतीश को सीएम बनाया और पंजाब में अकाली के साथ सरकार में अच्छी संख्या में विधायक होते हुए भी उप मुख्यमंत्री का पद नहीं मांगा. उन्होंने कहा कि NDA स्वार्थ नहीं त्याग की भावना से बना है।

वहीं, आपको बता दें कि हाल ही में सीएम नीतीश कुमार ने भी प्रधानमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला था. उन्होंने पीएम मोदी का नाम लिए बिना कहा कि विपक्षी दलों के जुटान से वह घबराहट में हैं. I.N.D.I.A. नाम से ही उन्हें घबराहट हो रही है. अभी दो ही बैठक में यह हाल है, आगे क्या होगा पता नहीं. वहीं, मणिपुर हिंसा पर भी सीएम नीतीश ने पीएम मोदी पर भी निशाना साधते हुए जवाब मांगा था. उन्होंने कहा था कि मणिपुर में जो हिंसा हुई है उस पर केन्द्र सरकार को ध्यान देना चाहिए. महिलाओं के साथ गलत व्यवहार किया गया. विपक्ष इस मामले को लेकर एकजुट है. उस पर पीएम मोदी क्यों नहीं बोल रहे हैं? चुप्पी क्यों साधे हुए हैं? प्रधानमंत्री को इसका जवाब देना चाहिए।