रणजी ट्रॉफी 2024 के सीजन में एलीट ग्रुप बी में छत्तीसगढ़ और मुंबई के बीच मुकाबला खेला जा रहा है। इस मैच में चोट के बाद पूरी तरह फिट होकर वापसी करने वाले युवा ओपनिंग बल्लेबाज पृथ्वी शॉ का विस्फोटक अंदाज में शतकीय पारी देखने को मिली। शॉ ने खेल के पहले ही सत्र में अपना शतक पूरा कर लिया। पृथ्वी इस पारी में 185 गेंदों का सामना करने के बाद 159 रन बनाकर पवेलियन लौटे, जिसमें 18 चौके और तीन छक्के देखने को मिले। शॉ ने इस मैच में अपनी सेंचुरी पूरी करने के लिए सिर्फ 102 गेंदों का सामना किया। वहीं फर्स्ट क्लास क्रिकेट में ये उनका 80वीं पारी में 13वां शतक भी है।

रणजी में ऐसा करने वाले बने तीसरे खिलाड़ी

पृथ्वी शॉ साल 2023 में इंग्लैंड की घरेलू वनडे टूर्नामेंट के दौरान एक मैच में अपने घुटने के लिगामेंट को चोटिल कर बैठे थे। इसके बाद से वह लगातार कई घरेू टूर्नामेंट में नहीं खेल सके थे। शॉ लंबे समय के बाद बंगाल के खिलाफ मुंबई के पिछले रणजी मैच के दौरान मैदान पर वापस लौटे थे, लेकिन वह बल्ले से कुछ खास कमाल करने में कामयाब नहीं हो सके। अब उन्होंने इस मैच में विस्फोटक अंदाज में शतक लगाने के साथ सभी को अपने कमबैक करने का संदेश भी दे दिया है। शॉ रणजी ट्रॉफी के इतिहास में किसी मुकाबले के पहले सेशन में शतक लगाने वाले तीसरे बल्लेबाज भी बन गए हैं। इससे पहले साल 1950 में जेएन सेठ ने साउथर्न पंजाब के खिलाफ मैच में और साल 1965 में भरत अवस्थी ने जम्मू कश्मीर के खिलाफ मैच में ये कारनामा किया था।

पृथ्वी शॉ का अब तक ऐसा रहा फर्स्ट क्लास करियर

प्रथम श्रेणी क्रिकेट फॉर्मेट में पृथ्वी शॉ के रिकॉर्ड को देखा जाए तो उन्होंने साल 2016-17 के सीजन में तमिलनाडु के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में अपना डेब्यू किया था। इस मैच में मुंबई की दूसरी पारी में ही शॉ ने 120 रन बनाने के साथ प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब भी अपने नाम किया था। वहीं शॉ ने अब तक 46 फर्स्ट क्लास मैचों में 50 से अधिक के औसत के साथ 3997 रन बनाए हैं, जिसमें उनके नाम 13 शतक और 16 अर्धशतकीय पारियां दर्ज हैं।