राजद विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा है कि बिहार में पहली बार हॉर्स ट्रेडिंग की परंपरा भारतीय जनता पार्टी ने शुरू की है. यह कहीं से ठीक नहीं है. उन्होंने कहा कि हॉर्स ट्रेडिंग कर जिस तरह से विधायकों को अपने साथ लाने का काम बीजेपी के लोग कर रहे हैं, जनता देख रही है और समय आने पर जनता ऐसे दलों को जवाब देने का भी काम करेगी।

‘ठीक नहीं यह परंपरा’- भाई वीरेंद्र: राजद विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा कि इस परंपरा की शुरुआत कर भारतीय जनता पार्टी खुद फंस रही है और समय आने पर जनता ऐसे पार्टियों का साथ नहीं देने का काम करेगी. उन्होंने कहा कि धनबल का प्रयोग कर पार्टियों को तोड़कर अपने साथ लाना कहां से उचित है. उनसे जब सवाल किया गया की क्या राष्ट्रीय जनता दल अपने विधायकों पर कार्रवाई की मांग विधानसभा अध्यक्ष से करेगी तो उन्होंने कहा कि यह अब हमारे नेता सोचेंगे।

“जो लोग हमारी पार्टी को छोड़कर गए हैं उन पर कार्रवाई होना है. कांग्रेस ने कार्रवाई करना शुरू कर दिया है और हमें उम्मीद है कि हमारी पार्टी भी ऐसे गद्दारों पर कार्रवाई करेगी. साथ ही विधानसभा अध्यक्ष को भी पार्टी लिख कर देगी कि उन्हें सदन से भी निष्कासित किया जाए.”- भाई वीरेंद्र, राजद विधायक

महागठबंधन को झटका: दरअसल मंगलवार को कांग्रेस के दो विधायक और आरजेडी के एक विधायक ने बजट सत्र की कार्यवाही के दौरान पाला बदल लिया और सत्ता पक्ष की ओर बैठ गए. तीनों ने खुद को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इंसपायर बताया. कांग्रेस विधायक सिद्धार्थ, पूर्व मंत्री मुरारी गौतम और आरजेडी की विधायक संगीता कुमारी के पाला बदलने से बिहार में सियासी हलचल मच गई है।