• Sat. Dec 10th, 2022

लाल किला हिंसा मामला: क्राइम ब्रांच ने 50 हजार के इनामी बूटा सिंह को किया गिरफ्तार

ByShailesh Kumar

Jun 30, 2021

दिल्ली के लाल किला हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने बुधवार को एक और आरोपी को गिरफ्तार किया है. क्राइम ब्रांच ने बूटा सिंह नाम के एक आरोपी को गिरफ्तार किया है. बूटा सिंह पर दिल्ली पुलिस ने 50 हजार का इनाम रखा था. बूटा सिंह लाल किले में निशान लहराने वाले आरोपी जुगराज के साथ था और लाल किले में जमकर हिंसा फैलाई थी. आपको बता दें कि 26 जनवरी को नए किसान कानूनों के विरोध में कुछ शरारती तत्वों ने दिल्ली में जमकर बवाल काटा था.

इससे पहले इस मामले में आरोपी गुरजोत सिंह को गिरफ्तार किया गया था. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गुरजोत को पंजाब के अमृतसर से पकड़ा था. आपको बता दें कि आरोपी गुरजोत पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित था. आरोप है कि उसने लाल किले के पीछे वाले गुम्बद में चढ़कर झंडा फहराया था. उसके बाद से फरार चल रहे गुरजोत सिंह फरार चल रहा था. दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के मुताबिक, उसकी गिरफ्तारी पंजाब के अमृतसर से हुई है.

गौरतलब है कि 26 जनवरी को हुई हिंसा की घटना में शामिल होने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने हिंसा में शामिल होने के आरोप में दीप सिद्धू, जुगराज सिंह, गुरजोत सिंह और गुरजंत सिंह की गिरफ्तारी पर 1 लाख रुपये का ईनाम रखा था. इसके अलावा, जगबीर सिंह, बूटा सिंह, सुखदेव सिंह और इकबाल सिंह पर 50,000 रुपये नकद ईनाम देने का ऐलान किया गया था.  दीप सिद्धू और इकबाल सिंह को बाद में लाल किले की हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार किया जा चुका है.

कैलिफोर्निया से अपलोड कराता था वीडियो

पुलिस को अभी तक की जांच में पता चला है कि दीप सिद्धू अपना वीडियो बनाकर उसे दोस्तों को भेजता था. इसके बाद दोस्त उसके वीडियो को दीप सिद्धू की महिला मित्र जो इस वक्त कैलिफोर्निया में हैं, उस तक पहुंचाते थे. कैलिफोर्निया से वीडियो को दीप सिद्धू के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपलोड किया जाता था. पुलिस के मुताबिक 26 जनवरी की रात को ही दीप सिद्धू ने अपना फोन बंद कर लिया था. इसके बाद वह लगातार अपने ठिकाने बदलता रहा.

एक लाख का था इनामी

26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर परेड के आरोपी दीप सिद्धू पर 1 लाख रुपये का इनाम रखा था. 26 जनवरी को लाल किला पर झंडा फहराने और हिंसा भड़काने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने पंजाबी अभिनेता दीप सिद्धू के खिलाफ देशद्रोह और यूएपीए के तहत मामला दर्ज किया था. दीप सिद्धू का जन्म 1984 में पंजाब के मुक्तसर जिले में हुआ था. सिद्धू ने आगे लॉ की पढ़ाई की. किंगफिशर मॉडल हंट अवॉर्ड जीतने से पहले वह कुछ दिन बार का सदस्य भी रहा. साल 2015 में दीप सिद्धू की पहली पंजाबी फिल्म ‘रमता जोगी’ रिलीज हुई. हालांकि उसे प्रसिद्धि साल 2018 में आई फिल्म जोरा दास नुम्बरिया से मिली, जिसमें उसने एक गैंगस्टर का रोल निभाया था.