शिवहर: राजद प्रदेश प्रवक्ता रितु जयसवाल के बयान पर पूर्व सांसद एवं शिवहर जदयू प्रत्याशी लवली आनंद ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. लवली आनंद ने कहा कि उन्होंने रितु जायसवाल के बयान को नहीं सुना है, लेकिन अगर ऐसा है, तो यह बहुत ओछी बता है. यह टिकट पाने के लिए बौखलाहट में दिया जा रहा बयान है. उन्हें टिकट लेना है तो किसी और तरीके से ले, मुझपर आरोप क्यों लगा रही है।

‘टिकट के लिए आरोप ना लगाए’: लवली आनंद ने कहा कि शिवहर की महान जनता ने दो बार मेरे पति आंनद मोहन को सांसद बनाया, तीसरी बार मात्र 900 वोटों से लोकसभा में हराया. कहा कि वह जब भी यहां से चुनाव लड़ी है, विपरीत परिस्थिति में लड़ी है. दूर में रहकर कर इस तरह की टिप्पणी करना मुझे और शिवहर की महान जनता को बर्दाश्त नहीं है।

‘शिवहर के दिल में बसते हैं हम’- लवली आनंद: लवली आनंद ने कहा कि वह (रितु जायसवाल) बच्ची हैं. उनका राजनीतिक बचपना वाला हरकत है. उन्हें सोच-समझकर कुछ भी बयान देना चाहिए. वहीं उन्होंने कहा कि अगर उन्हें बौखलाहट है, तो लवली आनंद ने क्या बिगाड़ दिया है. उनके बेटे चेतन को जनता ने हजारों वोट से जिताया है, कोई कैसे कह सकता है कि शिवहर की जनता ने उन्हें नकार दिया है।

“आप लोग जानते है कि मैं स्वतंत्रता सेनानी परिवार से हूँ, मेरे पति आनंद मोहन का परिवार भी स्वतंत्रता सेनानी के परिवार है. बिना किसी की पृष्ठभूमि को जाने टिका-टिप्पणी करना उचित नहीं है. यहां से जनता ने मेरे बेटे को भी 40 हजार वोट से जिताया. हम शिवहर की जनता के दिल में बसते हैं, शिवहर के लोग हमारे दिल में बसते हैं. इस तरह का बयान देना नादानी है, पॉलिटिकल अपरिपक्वता के कारण ऐसा बोल रही हैं.”- लवली आनंद, पूर्व सांसद

रितु जायसवाल ने क्या कहा था?: बता दें कि राजद प्रदेश प्रवक्ता रितु जायसवाल ने लवली आनंद को लेकर कहा था कि शिवहर का माहौल लवली आनंद के विरोध में है. शिवहर की जनता किसी डीएम के हत्यारे को नहीं जीताएगी. लवली आनंद का यह पहला चुनाव नहीं है, 2009 और 2014 में दोनों ही बार जनता ने चौथी नंबर पर फेंका है. रितु जायसवाल ने आगे कहा कि यहां पर नीतीश कुमार अपनी दोस्ती की बली शिवहर को चढ़ा रहे हैं. वह भी जानते हैं कि लवली आनंद नहीं जीत सकती।