• Sat. Dec 10th, 2022

RJD और JDU का होगा विलय! लालू से जगदानंद की मुलाकात के बाद कयास तेज

BySumit Kumar

Nov 25, 2022

बिहार के राजनीतिक गलियारों में इन दिनों यह चर्चा जोरों पर है कि क्या RJD और JDU का विलय (Merger of RJD and JDU) होगा. गुरुवार को आरजेडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू यादव (RJD Supremo Lalu Yadav ) से बिहार राजद प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने दिल्ली में मुलाकात की. किडनी ट्रांसप्लांट के लिए जाने से पहले जगदाबाबू ने मीसा भारती के आवास पहुंचकर लालू यादव से मिले. दोनों के बीच काफी लंबी बातचीत हुई. सूत्रों की मानें तो लालू प्रसाद यादव और जगदानंद सिंह के बीच पार्टी विलय को लेकर भी चर्चा हुई।

जदयू और राजद के विलय पर राजनीति तेजः कहा जा रहा है कि दोनों पार्टियों का विलय होने वाला है. बिहार की कमान तेजस्वी यादव के हाथ में आ जाएगी. नीतीश कुमार राष्ट्रीय अध्यक्ष बनेंगे. दोनों दलों में भी इसकी चर्चा है कि जदयू और राजद का आपस में विलय हो जाएगा. हालांकि दोनों दल के नेता इस मुद्दे पर खुलकर नहीं बोल रहे हैं, लेकिन विपक्ष इस मुद्दे को तूल दे रहा है. बुधवार को जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने मुजफ्फरपुर में कहा था कि नीतीश कुमार निश्चित तौर पर राजद के साथ जदयू का विलय कर देंगे क्योंकि, वह नेता के तौर पर तेजस्वी यादव को स्टेबलिश कर रहे हैं।

जगदानंद सिंह प्रदेश कार्यालय नहीं आ रहे:पिछले 3 महीने से राजद कार्यालय बिना प्रदेश अध्यक्ष के चल रहा है. जगदानंद सिंह प्रदेश कार्यालय नहीं आ रहे हैं. बताया जा रहा है कि राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह नाराज चल रहे हैं. हालांकि जगदानंद सिंह ने स्वास्थ्य कारणों का हवाला दिया था. लालू प्रसाद यादव और जगदानंद सिंह के बीच बातचीत हुई है और विवाद सुलझने की संभावना दिख रही है. गुरुवार को दिल्ली में लालू प्रसाद यादव और जगदानंद सिंह के बीच मुलाकात हुई।

तो जगदानंद सिंह वापस लौट आएंगेः मिल रही जानकारी के मुताबिक राबड़ी देवी और लालू प्रसाद यादव चाहते हैं कि जगदानंद सिंह प्रदेश अध्यक्ष बने रहें. वहीं जगदानंद सिंह चाहते हैं कि महागठबंधन में कोऑर्डिनेशन कमिटी बने. सभी सहयोगी राजनीतिक दल कोआर्डिनेशन कमेटी के जरिए अपनी बात रखें. फिलहाल जो जानकारी मिल रही है उसके मुताबिक कोआर्डिनेशन कमेटी में मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के अलावा तमाम महागठबंधन के घटक दलों के अध्यक्ष को रखने की कवायद चल रही है. लालू प्रसाद यादव और जगदानंद सिंह के बीच अगर मुद्दों पर सहमति बनी तो जगदानंद सिंह वापस लौट आएंगे।