• Sat. Dec 10th, 2022

उत्तर भारत में भीषण गर्मी व लू का कहर, दिल्ली में अलर्ट जारी, जानें- अपने राज्य के मौसम का हाल

ByRajkumar Raju

Apr 11, 2022

उत्तर भारत के ज्यादातर राज्यों में दिन के समय तेज धूप जैसे आसमान से आग बरसा रही है। बढ़ते तापमान के साथ लू के थपेड़ों से लोग परेशान हैं। मौसम विभाग ने देश के कई राज्यों में लू (हीट वेव) की चेतावनी दी है। आईएमडी के मुताबिक, राजस्थान, पंजाब के कुछ हिस्सों, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़ और पश्चिमी मध्य प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में भीषण लू चलने की संभावना है।

राजधानी दिल्ली में गर्मी के चलते मौसम विभाग ने ‘येलो’ अलर्ट जारी किया है। दिल्ली के कई जगहों पर हीटवेव कंडीशन और बहुत से इलाकों में सीवियर हीटवेव कंडीशन की भविष्यवाणी की गई है। दिन के समय आज दिल्ली का न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है, जबकि अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस रह सकता है।

पहाड़ी इलाकों की बात की जाये तो मौसम विभाग ने उत्तराखंड में फिर मौसम बदलने की संभावना जताई है। पश्चिमी विक्षोभ के चलते अगले कुछ दिनों में यहां बारिश हो सकती है। जिसके चलते तापमान में कुछ कमी आ सकती है। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून का न्यूनतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 39 डिग्री सेल्सियस रहेगा। वहीं हिमाचल प्रदेश के शिमला का न्यूनतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस रहने वाला है और अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।

बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र

दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना चक्रवाती हवाओं का एक क्षेत्र बना हुआ है। उधर, विदर्भ से दक्षिण आंतरिक कर्नाटक तक एक निम्न दबाव की रेखा मराठवाडा और उत्तरी आंतरिक कर्नाटका होकर गुजर रही है। मौसम विभाग के अनुसार 12 अप्रैल की रात तक पश्चिमी हिमालय के पास एक नया पश्चिमी विक्षोभ आने की संभावना है। इसके असर से असर से उत्तर पश्चिम भारत के कई हिस्सों में अधिकतम तापमान में 2-3 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने की संभावना है।

उत्तराखंड में गर्मी की मार से जनजीवन प्रभावित

उत्तराखंड में गर्मी की मार से जनजीवन प्रभावित है। अधिकतम तापमान में चार से छह डिग्री सेल्सियस तक उछाल के चलते दिन में गर्मी ने लोगों को परेशान किया हुआ है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के मुताबिक, मंगलवार शाम तक तापमान में सामान्य से अत्यंत अधिक वृद्धि की आशंका है।

इससे मैदानों में भीषण गर्मी महसूस की जा सकती है। उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, टिहरी, पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, बागेश्वर, नैनीताल, चंपावत में संवेदनशील इलाकों में विशेष सतर्कता बरतने की सलाह दी गई है। हालांकि, यहां हल्की बौछार भी पड़ सकती हैं। 13 व 14 अप्रैल को कहीं-कहीं ओलावृष्टि व बारिश हो सकती है।

हिमाचल में बारिश व आंधी से मिली राहत

हिमाचल प्रदेश में शनिवार रात को मंडी, कुल्लू और शिमला जिले के कुछ स्थानों पर ओलावृष्टि व तेज हवाएं चलने से गर्मी से थोड़ी राहत मिली। इससे फसलों को नुकसान पहुंचा है। रविवार को प्रदेश के अधिकतर स्थानों पर धूप खिली है। मौसम विभाग ने प्रदेश में 12 अप्रैल से बारिश की संभावना जताई है। विभाग के निदेशक सुरेंद्र पाल का कहना है कि बहुत ही मामूली पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से कई स्थानों में आंधी चलने के साथ हल्की बारिश हुई। प्रदेश में ऊना सबसे गर्म रहा, जहां अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

गर्म हवा से बेहाल है जम्मू

जम्मू-कश्मीर में बढ़ते तापमान के साथ अब हवा भी गर्म होने लगी है। दिन में गर्मी बेहाल करने लगी है। रविवार को जम्मू में इस मौसम का सबसे गर्म दिन रहा और अधिकतम तापमान 38.6 डिग्री तक पहुंच गया। मौसम विभाग ने 13-14 अप्रैल को हल्की बारिश की संभावना जताई है, जिससे गर्मी से राहत मिलेगी। आम दिनों में मौसम शुष्क एवं गर्म रहेगा।

दो दिन लू की चपेट में रहेगा पंजाब

तीन दिनों से पंजाब के नौ जिलों में लू चल रही थी। इन जिलों में दिन का पारा 40 डिग्री सेल्सियस से पार हो गया है। 13 अप्रैल से हिमाचल के ऊपरी इलाकों में वेस्टर्न डिस्टर्बेंस सक्रिय हो रहा है। इससे प्रदेश में बादल छाए रह सकते हैं और बारिश के भी आसार हैं। इसका असर पंजाब के कई जिलों पर भी पड़ेगा। हिमाचल की बारिश पंजाब के कई जिलों को एक-दो दिन के लिए गर्मी से राहत दिलाएगी।

इन राज्यों में बारिश की संभावना

स्काईमेट वेदर के मुताबिक सिक्किम, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, असम, मेघालय, तमिलनाडु के अरुणाचल प्रदेश और केरल में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। शेष पूर्वोत्तर भारत और तटीय कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।