अंधाधुंध फायरिंग:शादी समारोह में अपराधियों ने चाचा-भतीजा को गोलियों से भूना, भाग रहे एक को ग्रामीणों ने पकड़ा, पिटाई से हुई मौत

सारण जिले में एक शादी समारोह में अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग कर चाचा-भतीजा को मौत के घाट उतार दिया। घटना गरखा थाना क्षेत्र के मोतीराजपुर गांव की है। गोली लगने से एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल भी हो गया।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि शादी समारोह के दौरान 5 की संख्या में आए अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी, जिसमें नागेंद्र सिंह और उनके भतीजे संजय सिंह की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि नागेन्द्र सिंह के भाई गंभीर रूप से घायल हो गए। उनको सदर अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए पीएमसीएच पटना रेफर कर दिया गया है। सदर अस्पताल के आपात कालीन कक्ष में ड्यूटी पर तैनात डॉक्टरों ने बताया कि नित्यानंद सिंह के पेट में गोली लगी है, जिस कारण उनकी स्थिति काफी गंभीर है। इसलिए बेहतर इलाज के लिए उन्हें पीएमसीएच, पटना रेफर किया गया।

चार अपराधियों को पुलिस ने पकड़ा
शादी समारोह में गोलीबारी के कारण अफरातफरी मच गई। घटना के तुरंत बाद मौके पर पहुंची एसपी धूरत सायली सावलाराम के नेतृत्व में छापेमारी शुरू कर दी गई। पुलिस ने इस घटना में शामिल चार आराेपियों को गड़खा से ही गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि इस घटना में कुल पांच अपराधी शामिल थे, जिसमें से एक की मौत हो गई। जबकि चार अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उनके पास से हत्या में प्रयुक्त हथियार और बम बरामद किया गया है। हालांकि अभी हत्या के कारणों का पता नहीं चला है और पुलिस इस बिंदु पर जांच कर रही है।

ग्रामीणों की पिटाई से एक अपराधी की हुई मौत

वारदात को अंजाम देकर भाग रहे एक अपराधी परशुराम राय (55 वर्ष) को ग्रामीणों ने पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटाई कर डाली। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने परशुराम राय को हिरासत में लेकर इलाज के लिए गड़खा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल छपरा रेफर कर दिया। सदर अस्पताल से भी प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने पीएमसीएच पटना रेफर कर दिया, जिसे पटना ले जाने के क्रम में सोनपुर के पास उसकी मौत हो गई।

Leave a Reply