शाहनवाज हुसैन ने बुधवार को बिहार के राज्यपाल से मुलाकात के दौरान उन्हें सबौर कृषि विश्वविद्यालय और तिलकामांझी विश्वविद्यालय के हालात से अवगत कराया. उन्हें प्राचीन और ऐतिहासक विक्रमशिला विश्वविद्यालय के धरोहर के अवलोकन के लिए आमंत्रित किया।

शाहनवाज हुसैन ने कहा कि बिहार के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ अर्लेकर के बिहार आने के बाद से ही राज्य में मौजूद सभी विश्वविद्यालयों की स्थिति और पठन-पाठन में सुधार को लेकर उनका विशेष ध्यान है।

सबौर कृषि विश्वविद्यालय और तिलकामांझी विश्वविद्यालय को लेकर राज्यपाल की चिंता रहती है. ऐसे में उन्होंने इन विश्वविद्यालयों के हालात को लेकर राज्यपाल को अद्यतन स्थिति की जानकारी दी है. शाहनवाज हुसैन ने कहा कि दुनिया के प्राचीनतम शिक्षण केंद्रों में से एक विक्रमशिला विश्वविद्यालय के भी पुनरुद्धार के विषय पर राज्यपाल से चर्चा हुई. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार विक्रमशिला विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय बनाने को लेकर प्रयासरत्त है।