बिहार में दिल दहलाने वाली घटना: सनकी पति ने चार बच्चों को मार डाला, पत्नी व एक बेटी गंभीर, खुद भी खाया जहर

बिहार के सिवान जिले से एक खतरनाक और दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। सिवान जिले के भगवानपुर थाना क्षेत्र के बलहा गांव से एक सनकी पति ने अपनी पत्नी और पांच बच्चों को धारदार हथियार से काट दिया। इनमें से चार बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, पत्नी और एक बेटी की हालत गंभीर है। पति का भी अस्पताल में इलाज चल रहा है।

चार मृतकों में एक बेटी व तीन बेटे
चार मरने वाले बच्चों में एक बेटी और तीन बेटे हैं। आरोपी ने बताया कि इस घटना को अंजाम देने के बाद पति ने खुद जहर खा लिया और पुलिस को इस बात की जानकारी खुद ही दी। आरोपी का इलाज सिवान के सदर अस्पताल में कराया जा रहा है। आरोपी ने पुलिस को जो बातें बताईं, उनके मुताबिक ऐसा लगता है कि आरोपी की मानसिक हालत ठीक नहीं थी।

पत्नी और एक बेटी पीएमसीएच में रेफर
सोमवार की रात हुई इस वारदात के बारे में जो भी सुन रहा है वह यकीन नहीं कर पा रहा है। ये किसी दर्दनाक और खतरनाक घटना से कम नहीं है। जिन चार बच्चों की मौके पर मौत हो गई, उनमें ज्योति कुमारी (17 साल), अभिषेक कुमार (15 साल), नीतीश कुमार उर्फ भोला (12 साल) और मुकेश (सात साल) शामिल हैं।

वहीं पत्नी रीता देवी और एक बेटी अंजलि कुमारी को पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में रेफर कर दिया गया है।

आरोपी का बयान- मेरे अंदर एक हवा घुसी, जो मिला उसे मारता गया
सनकी पति अवधेश चौधरी ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि मैं बाहर टहलने के लिए गया था, तभी मेरे अंदर एक हवा घुस गई और उसके बाद मुझे ऐसा लगा कि अब मेरे सामने जो व्यक्ति आएगा, मुझे उसे मार देना है। इसके बाद मेरी पत्नी और बच्चे ही मेरे सामने आए, जिन्हें मैं मारता चला गया।

पुलिस को खुद घटना की दी जानकारी
अवधेश ने बताया कि घटना को अंजाम देने के बाद वह थाने की तरफ चला गया और डीएम का नंबर ले लिया। अवधेश ने डीएम को कॉल किया, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया। इसके बाद वो अपने घर लौटने लगा, तभी रास्ते में उसे पुलिस गश्ती दल ने रोका।

अवधेश ने पुलिस को इस घटना की पूरी जानकारी दे दी। पुलिस ने जैसे ही यह सुना, तुरंत अवधेश को अपनी गाड़ी में बैठाया और उसको घर ले गए। वहां जाकर देखा कि चार लोगों के शव खून से लथपथ पड़े थे, लेकिन पत्नी और एक बेटी की सांसें चल रही थीं। इसके बाद पुलिस ने इन्हें सदर अस्पताल में भर्ती कराया।

वारदात के बाद छिड़का मिट्टी का तेल और खाया जहर
अवधेश ने यह भी बताया कि इस घटना को अंजाम देने के बाद उसने खुद भी आत्महत्या करने की कोशिश की थी। उसने घर में रखे मिट्टी के तेल के खुद को छिड़क लिया और घर में रखा जहर खा लिया। हालांकि पुलिस ने उसे गिरफ्तार करते हुए उसे सिवान के सदर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करा दिया है। वारदात के बाद पुलिस ने अवधेश के घर को सील कर दिया है और जानकारी दी है कि जांच के बाद ही घर को दोबारा खोला जाएगा।

 

Leave a Reply