इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बचे हुए तीन मैचों के लिए टीम इंडिया के स्क्वाड का ऐलान शनिवार को बीसीसीआई ने कर दिया। इस टीम में श्रेयस अय्यर का नाम शामिल नहीं था। हालांकि अय्यर की फिटनेस को लेकर बीते दिनों खबर आई थी, लेकिन जब टीम का ऐलान हुआ तब अय्यर को लेकर बीसीसीआई ने कोई अपडेट बिना दिए उनका नाम स्क्वाड से बाहर कर दिया। इसे लेकर कई सवाल खेड़े होने लगे क्योंकि बीसीसीआई ने टीम में जो भी बदलाव किए हैं उसके पीछे कारण जरूर बताया है। सिर्फ श्रेयस अय्यर को लेकर कुछ नहीं बताया गया है।

इंजरी या खराब फॉर्म क्या हो सकता है कारण

श्रेयस अय्यर पिछले कुछ समय से खराब फॉर्म ले गुजर रहे हैं। उनके बल्ले से रन नहीं आ रहे हैं। इस सीरीज में भी अय्यर ने निराश किया। ऐसे में यह भी कहा जा सकता है कि अय्यर को उनके खराब फॉर्म के कारण ड्रॉप किया गया होगा, लेकिन बीसीसीआई ने कोई ऐसी बात नहीं कही है तो उन इसे लेकर कुछ भी कहना काफी जल्दी हो सकता है।

अय्यर ने इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए सीरीज के दो मुकाबलों की चार पारियों में 35, 13, 27, 29 रनों की पारी खेली। अय्यर के पास मौका था, लेकिन तेज गेंदबाजों ने उनकी कमजोरी को समझ लिया है और उन्हें इसका नुकसान होता साफ नजर आ रहा है। टेस्ट क्रिकेट में अय्यर के दो साल खराब रहे हैं, इस साल 3 मैचों में उनका औसत 21.60 और 2023 में 4 टेस्ट मैचों में 13.16 का औसत रहा था।

अय्यर के कारण बच गई इस खिलाड़ी की कुर्सी

सीरीज के बचे हुए मैचों से अय्यर के बाहर हो जाने के कारण किसी एक खिलाड़ी को सबसे ज्यादा राहत मिली होगी तो वह खिलाड़ी कोई और नहीं बल्कि सरफराज खान होंगे। दरअसल केएल राहुल और रवींद्र जडेजा पहले टेस्ट में चोटिल हो जाने के बाद अब टीम इंडिया के स्क्वाड में वापसी कर चुके हैं। ऐसे में माना जा रहा था कि अगर इन खिलाड़ियों की वापसी होती है तो सरफराज खान को फिर से बाहर किया जा सकता है, लेकिन बीसीसीआई ने सरफराज खान को टीम इंडिया में बनाए रखा है।