पटना: आल इंडिया नीट काउन्सेलिंग के पहले राउंड में ही गोल संस्थान के छात्रों ने टॉप 10 मेडिकल कॉलेजों में स्थान पाने के परंपरा को कायम रखते हुए इस वर्ष भी एक बड़ी कीर्तिमान स्थापित किया है। पहले ही राउंड में जहां दिव्यांशु कुमार को मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज मिला। वहीं सचिन कुमार, आस्था अग्रवाल को एम्स भोपाल, स्नेहिल आनंद एवं सौम्य सिद्धार्थ को एम्स ऋषिकेश, हर्ष राज को एम्स भुवनेश्वर, सत्यम बर्नवाल को एम्स गोरखपुर, आयुष राज एवं गोपाल राज को बीएचयू, वाराणसी, स्वेता कुमारी एवं अमन राज को एम्स पटना के साथ रूमैशा मारिया को मेडिकल कॉलेज कलकत्ता मिला है।

साथ ही देश के विभिन्न प्रतिष्ठित एम्स संस्थानों में गोल के 73 छात्रों के अलावा सैंकड़ों अन्य छात्रों को देश के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों में नामांकन के लिए अलॉटमेंट हुआ है। ऑल इंडिया के दूसरे राउंड के काउन्सेलिंग के साथ राज्य के द्वारा कराये जा रहे काउन्सेलिंग में गोल के और कई छात्रों को देश का टॉप कॉलेज मिलने की संभावना है।

गोल इन्स्टीट्यूट के फाउण्डर एवं मैनेजिंग डायरेक्टर विपीन सिंह ने इस उपलब्धि पर खुशी जताया एवं छात्रों को बधाई और शुभकामना देते हुए पुनः इसका श्रेय छात्रों की कड़ी मेहनत, अभिभावकों का विश्वास और पुरे गोल टीम की सतत ईमानदार प्रयास को दिया है।

असिस्टेंट डायरेक्टर रंजय सिंह ने इसे बड़ी सफलता बताई। वहीं आर. एण्ड डी. हेड आनन्द वत्स ने कहा कि टॉप कॉलेज प्राप्त करने वाले सफल छात्रों में ज्यादातर छात्र गोल एजुकेशन विलेज से हैं। साथ ही उन्होनें बताया कि नीट 2024 के लिए टारगेट एवं एचीवर और टेस्ट सीरीज में नामांकन जारी है। गोल विलेज में एडमीशन के लिए प्रवेश परीक्षा 06 अगस्त को है।