एक बयान दिया था। अपने बयान में उन्होंने राम मंदिर, काशी और मथुरा का जिक्र किया। इस बीच ज्ञानवापी मामले पर विवाद बढ़ गया है। कहीं कोई राजनीतिक जुबानी जंग कर रहा है तो कहीं कोई सड़क पर उतर आया है। इस बीच बरेली में मौलाना तौकीर रजा के समर्थक सड़कों पर उतर आए हैं और हंगामा कर रहे हैं। ज्ञानवापी केस में आए फैसले के विरोध में शुक्रवार को तौकीर रजा के समर्थक जेल भरो आंदोलन कर रहे हैं।

बरेली में हंगामा

बता दें कि बरेली में आईएमसी प्रमुख मौलाना तौकीर रजा खान ने जेल भरो आंदोलन का आह्वान किया था। मौलाना के इस आह्वान के बाद पुलिस और प्रशासन पहले ही सतर्क हो गया था। पुलिस ने शहरभर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। बता दें कि बरेली में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद यह विवाद देखने को मिला। इससे पूर्व रजा खान ने कलेक्ट्रेट में जाकर अपनी गिरफ्तारी देने की बात कही थी। बता दें कि मौलाना ज्ञानवापी मस्जिद और मथुरा ईदगाह को लेकर अपना विरोध जता रहे हैं। उन्होंने इस बाबत कहा कि देश में नफरत का माहौल पैदा कर दिया गया है।

क्या बोले तौकीर रजा

उन्होंने कहा कि ऐसे में हम सब की जिम्मेदारी है कि अपनी इबादतगाहों के तहफ्फुज के लिए संविधान में दिए अधिकार के साथ हम शांतिपूर्वक अपना विरोध दर्ज कराए। मौलाना ने कहा कि हमसे बोलने तक के अधिकार को छीना जा रहा है। हम जुल्म होते किसी सूरत में सहन नहीं कर सकते हैं और न ही देख सकते हैं। जब हम कुछ नहीं कर सकते तो ऐसे आजादी से बेहतर है कि हम खुद को गिरफ्तार करा दें। बता दें कि तौकीर रजा के इस आंदोलन को देखते हुए प्रशासन भी पहले से अलर्ट है। इस बाबत प्रशासन ने शहर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं।