बिहार के शिक्षक मिले पीएम नरेंद्र मोदी से, फिर मेट्रो में ही खूब हुआ सवाल-जवाब, दरभंगा AIIMS पर भी ये सब….

बिहार के दरभंगा में बनने वाला एम्स एकबार फिर से सुर्खियों में है. दरभंगा एम्स पर बिहार सरकार और केंद्र सरकार अब खुलकर आमने-सामने आ चुकी है. एक के बाद एक हमले दोनों ओर से हो रहे हैं. वहीं अब इस विवाद की वजह से ऐसा लगने लगा है कि दरभंगा एम्स के निर्माण कार्य को शुरू होने में विलंब होना तय है. वहीं एक तरफ जहां गृह मंत्री अमित शाह ने दरभंगा एम्स का मुद्दा झंझारपुर रैली की मंच से उठाया और नीतीश कुमार की सरकार पर दोषारोपण किया तो वहीं दिल्ली में अपने जन्मदिन पर मेट्रो में सफर कर रहे पीएम मोदी से दरभंगा के एक रिटायर शिक्षक ने एम्स को लेकर सवाल कर दिए।

पीएम मोदी 17 सितंबर को अपने जन्मदिन के मौके पर पीएम मोदी दिल्ली मेट्रो में सफर कर रहे थे. मेट्रो के अंदर बैठे लोगों से प्रधानमंत्री बातचीत भी करते दिखे. जहां एक युवती ने पीएम नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर अलग ही अंदाज में संस्कृत में बधाई दी. वहीं मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बिहार के दरभंगा निवासी एक रिटायर शिक्षक से भी पीएम मोदी ने बातचीत की. इस दौरान दरभंगा में बनने वाले एम्स और इसमें फंसे पेंच को लेकर भी शिक्षक ने खुलकर पीएम मोदी से सवाल कर दिया।

दरभंगा के रहने वाले एक रिटायर शिक्षक रामबहादुर साह जो केवटी के पचाढ़ी के रहने वाले हैं, वो रविवार को दिल्ली एयरपोर्ट मेट्रो जा रहे थे. इसी दौरान अचानक कुछ सुरक्षाकर्मी उनके पास पहुंचे और कहा कि प्रधानमंत्री आपसे बात करना चाहते हैं. रामबहादुर साह बेहद हैरान और प्रसन्न हो गए. उन्हें लगा शायद फोन पर बात करने के लिए कह रहे हैं लेकिन जब उन्हें बताया गया कि पीएम मोदी यहीं इसी मेट्रो में पास वाली बोगी में मौजूद हैं तो वो दंग रह गए. सुरक्षाकर्मियों के साथ वो पीएम के पास गए. प्रधानमंत्री ने उन्हें अपने बगल वाली सीट पर बैठाया. पीएम ने उनसे हाल जाना और पता चला कि वो बिहार के दरभंगा से हैं तो दिल्ली आने की वजह पूछी।

शिक्षक ने अपने बेटे के बिमार होने और इलाज का हवाला दिया. बताया कि बेटे के आवास पर 25 अगस्त से रहकर इलाज करा रहे हैं. और अब फ्लाइट से वापस जा रहे हैं. उन्होंने पीएम से दरभंगा समेत उत्तर बिहार के विकास की मांग कर दी. दरभंगा एम्स के राग को छेड़ने से वो नहीं चूके और पीएम को कहा कि आपने जो एम्स दरभंगा में दिया है उससे उत्तर बिहार समेत नेपाल और सिक्किम के लोगों को भी लाभ होगा. लेकिन इसके निर्माण में फंसे पेंच पर भी वो बोले और कहा कि प्रधानमंत्री जी आप इस दिशा में थोड़ा जल्द पहल किजिए. इसका निर्माण जल्द हो जाए।

रिटायर्ड शिक्षक रामबहादुर साह की मांग पर पीएम मोदी मुस्कुराए और कहा कि दरभंगा में एम्स स्वीकृत है. इसके लिए राशि आवंटित कर दी गयी है. आपलोगों को इसका लाभ मिलेगा. लगे हाथ रामबहादुर साह ने दरभंगा एम्स के जमीन विवाद को सामने रख दिया और पीएम से कहा कि डीएमसीएच और शोभन के बलिया को लेकर जो राजनीति चल रही है इसका हल कैसे निकलेगा. उन्होंने कहा कि इस विवाद से आम लोगों को लेना-देना नहीं है. कहीं एक जगह बन जाए. जिसपर पीएम मोदी ने उन्हें त्वरित पहल का आश्वासन दिया. पीएम से मिलकर रिटायर्ड शिक्षक गदगद दिखे।