आसन के अपमान पर भड़के तेजस्वी, कहा- ‘कंट्रोल में रहें CM नीतीश’, स्पीकर से मांगे माफी

बिहार में विधानसभा अध्यक्ष के अपमान मामले पर विवाद जारी है. इसी क्रम में आरा पहुंचे प्रदेश के पूर्व डिप्टी सीएम और सदन में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने इस मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया दी. स्पीकर के अपमान पर उन्होंने कहा, “अध्यक्ष को अपमानित करना लोकतंत्र के लिए काला दिन है. लोकतंत्र की हत्या की जा रही है. ये नीतीश कुमार का तानाशाही रवैया है. सदन के संरक्षक को अरे-तरे करना ठीक नहीं है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को विजय सिन्हा से माफी मांगनी चाहिए.”

सीएम को नहीं खोना चाहिए आपा 

तेजस्वी यादव ने आगे कहा कि ” सोमवार की घटना से विधानसभा अध्यक्ष काफी आहात हुए हैं. वह मर्माहत हैं, इसलिए वह आज सदन में भी नहीं आएं. ऐसा आज तक पहले किसी ने नहीं देखा था. हर बात बात पर, जब-जब सरकार की नाकामी गिनाई जाती है, नीतीश कुमार नाराज हो जाते हैं. पहले जनता बोलती थी. फिर हमने बोला. उनके सहयोगी दल और मंत्री भी बोले. अब जब विधानसभा अध्यक्ष ने कह दिया तो नीतीश तो उन्होंने अपना आपा खो दिया. लेकिन उन्हें इस तरह से आपा नहीं खोना चाहिए. उन्हें कंट्रोल में रहना चाहिए.”

कर्नाटक कोर्ट के फैसले पर कही ये बात

हिजाब विवाद पर कर्नाटक हाईकोर्ट के फैसले को तेजस्वी ने मानने से साफ इनकार कर दिया. उन्होंने पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि हिजाब विवाद बकवास की चीज है. हमको जो पहनना है. हम पहनेंगे. हमको कौन रोक सकता है.