• Sat. Dec 10th, 2022

बिहार में तेजी से कम हो रहा न्यूनतम और अधिकतम तापमान के बीच का अंतर

ByRajkumar Raju

Mar 21, 2022

मौसम का बदलाव ऐसे ही होता रहा तो आने वाले 10 दिनों में बिहार में लू चलने लगेगी। गर्मी पहले से ही 10 साल का रिकॉर्ड तोड़ रही है, अब आगे भी लू का रिकॉर्ड टूट सकता है। गर्म क्षेत्रों से आने वाली हवा की रफ्तार बढ़ते ही बिहार में लू के हालात हो जाएंगे। मौसम विभाग ने ऐसे मौसम को लेकर सेहत का अलर्ट जारी किया है। रात और दिन के तापमान में अब 19 डिग्री का फर्क रह गया है। तेजी से कम होता यह अंतर गर्मी बढ़ाने वाला है।

सुबह से ही धूप से बढ़ रही परेशानी

तेज धूप के कारण सुबह से ही परेशानी हो रही है। तेज धूप के कारण उमस भी बढ़ रही है। रात में थोड़ी राहत होती थी लेकिन होलिका दहन के बाद से रात में भी राहत नहीं है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि आने वाले 5 दिनों में मौसम में ऐसे ही परिवर्तन होगा। दिन के तापमान में तेजी से बदलाव का पूर्वानुमान है, जिससे गर्मी लोगों को और बेहाल करेगी। गर्म इलाकों से आने वाली हवा की रफ्तार में तेजी आने के साथ ही बिहार में लू चलने लगेगी।

बांका में पारा 41 डिग्री के पार

बांका ने बिहार में गर्मी का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। 21 मार्च तक राज्य में पिछले 10 सालों में ऐसी गर्मी नहीं पड़ी है। मौसम विभाग के मुताबिक 24 घंटे में बांका का अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस के पार हो गया है। पटना में भी पारा तेजी से बढ़ रहा है। पटना में सुबह से ही तेज गर्मी पड़ रही है। बिहार में जिस तरह से गर्मी बढ़ रही है, ऐसे में पूर्वानुमान है कि 31 मार्च तक आसमान से आग बरसने जैसी स्थिति होगी। मौसम विभाग का कहना है कि 5 दिनों में अधिक परिवर्तन देखने को मिलेगा।

5 डिग्री तक बढ़ जाएगा अधिकतम तापमान

मौसम विभाग ने आने वाले 3 दिनों में बिहार में 4 से 5 डिग्री तक तापमान के बढ़ने का पूर्वानुमान जताया है। ऐसे में राज्य का औसत अधिकतम तापमान 42 डिग्री के पार हो सकता है, जो सामान्य से काफी अधिक है। ऐसे मौसम में लोगों की सेहत पर बड़ा अटैक हो सकता है। रात और दिन के तापमान में अंतर कम होगा जिसके बाद गर्मी का प्रभाव दिन के साथ रात में भी अधिक दिखाई देगा।

मौसम विभाग ने अचानक से बढ़ी गर्मी को सेहत के लिए काफी खतरनाक बनाया है। लोगों से सावधानी बरतने की अपील की जा रही है। शरीर में पानी की कमी से ब्रेन स्ट्रोक से लेकर बीपी शुगर की समस्या बढ़ सकती है। पानी और मौसमी फलों के सेवन के साथ डाइट पर विशेष ध्यान देने को कहा जा रहा है।