बिहार विधानसभा में फ्लोर टेस्ट में जोड़ तोड़ की राजनीति की चर्चा तेज थी. इसी बीच राजद ने एनडीए सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है. राजद प्रवक्ता शक्ति सिंह यादव ने कहा कि एनडीए सरकार प्रशासन का दुरुपयोग कर हमारे दो विधायक चेतन आनंद और नीलम देवी को ले गए. राजद प्रवक्ता ने आरोप लगाया है कि दोनों विधायक सत्ता पक्ष के सचेतक के कमरे में देखे गए हैं. राजद का कहना है कि उनके दो विधायक तो तोड़ने की कोशिश की गई है।

“राजद के दो विधायक चेतन आनंद और नीलम देवी जो मोकामा की विधायक है. दोनों को सचेतक के कमरे में बैठाया गया है. यह काम सत्ता पक्ष के लोगों ने किया है. धमकी भी दिलवायी गई है. राजद की बैठक चल रही थी. इसी बीच प्रशासन के लोग जनबरन उन्हें ले गए. अभी दोनों सत्ता पक्ष के सचेतक के कमरे में दिखाई दे रहे हैं. सरकार ने शासन का दुरुपयोग किया है. वे गया में विधायकों को ले गए तो रासलीला और हम बैठक किए तो करैक्टर ढीला.” -शक्ति सिंह यादव राजद प्रवक्ता

शक्ति सिंह यादव का कहना है कि उनके दो विधायक चेतन आनंद और नीलम देवी को सत्ता पक्ष के लोग ने अपने चेंबर में बिठा रखा है. रविवार को तेजस्वी यादव के आवास पर विधायकों की बैठक हो रही थी. इसी बीच खबर आयी की चेतन आनंद के भाई ने अगवा करने की शिकायत की है. इसके बाद भाड़ी संख्या में पुलिस बल तेजस्वी आवास के बाहर पहुंच गई. राजद प्रवक्ता का आरोप है कि चेतन आनंद और नीलम देवी को प्रशासन अपने साथ ले गई।

राजद का आरोप है कि प्रशासन चेतन आनंद को धमकी दे रही है. प्रशासन के धमकी के कारण ही हमारे दो विधायक चेतन आनंद और नीलम देवी उन लोगों के साथ बैठे हुए हैं. सरकार अपने शक्ति का दुरुपयोग कर रही है. हमारे विधायकों को वोटिंग नहीं करने के लिए कहा जा रहा है।