समाजवादी पार्टी के महासचिव शिवपाल यादव के एक बयान पर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के नेता ओमप्रकाश राजभर ने करारा पलटवार किया है। जयंत चौधरी के NDA में शामिल होने की चर्चा पर शिवपाल ने कहा था कि जो छोटी-छोटी पार्टियां बीजेपी में गईं वे कहीं की नहीं रहीं। सपा महासचिव के बयान पर पलटवार करते हुए राजभर ने कहा कि समाजवादी पार्टी ही कहां सम्मान देती है। बता दें कि जयंत चौधरी के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय लोकदल का सपा से किनारा करके बीजेपी के साथ जाना लगभग तय हो गया है, ऐसे में बयानबाजियों का दौर जारी है।

‘…तो 4 उंगलियां आपकी तरफ भी हैं’

शिवपाल यादव के बयान पर पलटवार करते हुए सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) प्रमुख ओपी राजभर ने कहा, ‘समाजवादी पार्टी कहां सम्मान देती है। समाजवादी पार्टी से क्यों जयंत चौधरी जा रहे हैं? समाजवादी पार्टी से बसपा का 2 बार गठबंधन क्यों टूटा? कांग्रेस से दूसरी बार गठबंधन टूटने के कगार पर है। अगर आप दूसरी ओर इशारा कर रहे हैं तो 4 उंगलियां आपकी तरफ भी हैं।’ बता दें कि 2022 का यूपी विधानसभा चुनाव राजभर ने अखिलेश यादव के साथ मिलकर लड़ा था, हालांकि चुनाव के कुछ ही समय बाद उन्होंने सपा का साथ छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया था।

‘राष्ट्रीय नेतृत्व इस संबंध में बात कर रहा है’

जयंत के NDA में शामिल होने की चर्चा पर बीजेपी के नेता अभी कुछ भी साफ-साफ नहीं बोल रहे हैं। यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से जब इस बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि जब तक सब साफ नहीं हो जाता, हम इस पर नहीं बोलना चाहते। उन्होंने कहा, “हमारा राष्ट्रीय नेतृत्व इस संबंध में बात कर रहा है। जब तक उधर से बात नहीं हो जाती तब तक इसके बारे में हम लोग नहीं बोलना चाहते हैं। हम ये कह सकते हैं कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की आंधी चल रही है। हम यूपी की 80 लोकसभा सीटें जीत रहे हैं।”

मैंने कोई घोषणा नहीं की है: जयंत चौधरी

बता दें कि इसके पहले जयंत चौधरी ने अपने दादा और पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न देने के सरकार के फैसले के लिए शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए लोकसभा चुनाव से पहले NDA में शामिल होने का संकेत दिया था। उन्होंने कहा था कि मोदी जी ने दिखाया है कि वह देश की सोच और भावनाओं को समझते हैं। हालांकि BJP के साथ सीट-बंटवारे को लेकर सहमति बनने के बारे में पूछे जाने पर चौधरी ने कहा, ‘ऐसे दिन चुनाव के बारे में बात करना अपमानजनक होगा। मैंने कोई घोषणा नहीं की है। मैंने सिर्फ इतना कहा था ‘कोई कसर रहती है?’