आ गई दुनिया की सबसे सस्ती इलेक्ट्रिक कार, Alto से कम कीमत पर खरीदें Nano EV

चायना अपने सस्ते प्रोडक्ट के लिए जाना जाता है। चीन की कंपनियां उपयोगी आयटम्स को बेहद सस्ते रेट पर बाजार में इंट्रोड्यूस कराती हैं। यही वजह है कि पूरी दुनिया में चनी प्रोडक्ट की मांग बढ़ी है। पेट्रोल-डीजल के रेट बढ़ने की वजह से लोगों का झुकाव इलेक्ट्रिक वाहनों की तरफ हुआ है। ऐसे में चीन की कार मेकर कंपनी वूलिंग होंगगुआंग एक जबरदस्त ऑफर लेकर आई है। आधुनिकतम फीचर्स वाली इलेक्ट्रिक कार आपको ऑल्टो से भी सस्ती मिलेगी..

 

एक साल में तोड़ा बिक्री का रिकार्ड

होंगगुआंग की मिनी इलेक्ट्रिक कार एक बेहद सफल कार मानी जाती है। बीते साल 2020 में होंगगुआंग ने मिनी इलेक्ट्रिक कार की 119,255 यूनिट्स की ब्रिकी की थी। बीते साल यह दूसरी सबसे ज्यादा बिकने वाली इलेक्ट्रिक गाड़ी थी।

दुनिया की सबसे सस्ती इलेक्ट्रिक कार

चीन की कार मेकर कंपनी वूलिंग होंगगुआंगएक नई इलेक्ट्रिक कार ला रही है, जिसका नाम Nano EV होगा। मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से ये कहा जा रहा है कि यह छोटी इलेक्ट्रिक कार होने के अलावा दुनिया की सबसे सस्ती इलेक्ट्रिक कार भी हो सकती है।

2.30 लाख रुपये हो सकती है कीमत

CarNewsChina की रिपोर्ट के मुताबिक, Nano EV की कीमत करीब 2.30 लाख रुपये हो सकती है। नैनो ईवी की ये कीमत भारत में सबसे सस्ती कार के आसपास ही है। वहीं मारुति सुजुकी ऑल्टो करकी कीमत इससे ज्यादा है।

कहीं भी हो जाएगी पार्क

कंपनी वूलिंग होंगगुआंग ने इस कार को 2021 तियानजिन इंटरनेशनल ऑटो शो में लॉन्च किया था। ये कार टू सीटर है। कार का टर्निंग रेडिएस 4 मीटर के आसपास है। कार की लंबाई 2,497mm, चौड़ाई 1,526mm और ऊंचाई 1,616mm है। यानी साइज में यह टाटा नैनो से भी छोटी होगी। इसमें 1,600mm का व्हीलबेस मिलेगा।

एक बार फुल चार्ज करने पर 305Km चलेगी

नैनो ईवी कार की टॉप स्पीड 100 kmph होगी। इममें IP67-सर्टिफाइड 28 kWh लिथियम-आयन बैटरी दी गई है। एक बार चार्ज करने पर ये कार 305 किमी का सफर तय कर सकती है।

कंपनी के मुताबिक, इसे रेग्युलर 220-वोल्ट सॉकेट के जरिए फुल चार्ज करने में 13.5 घंटे का समय लगता है।

वहीं 6.6 kW AC चार्जर के जरिए इसे सिर्फ 4.5 घंटों में चार्ज किया जा सकता है। नैनो ईवी में रिवर्सिंग कैमरा, टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम, AC, कीलेस एंट्री सिस्टम, LED हेडलाइट्स और 7 इंच की डिजिटल स्क्रीन भी दी गई है।

 

Note : यह न्यूज़ मीडिया रिपोर्ट्स के द्वारा लिखी गयी है, वॉइस ऑफ बिहार इसकी पुष्टि नही करता.